प्रेग्नेंसी के दौरान विटामिन-ई की कमी से हो सकती है ये समस्या

   |  Updated: April 30, 2016 11:58 IST

Reddit
Deficiency of Vitamin E can harm fetus during pregnancy
विटामिन-ई स्वास्थ्य के लिए काफी महत्वपूर्ण माना जाता है। यह शरीर के अनेक अंगों को सामान्य रखने में अहम भूमिका निभाता है, इसकी कमी कई स्वास्थ्य हानियों का कारण बन सकती है। एक नए शोध में पता चला है कि विटामिन-ई की कमी विकासशील भ्रूण में मस्तिष्क संबंधी क्षति और शारीरिक असामान्यताएं और भ्रूण की मौत का कारण बन सकती है।

इन निष्कर्षों की खोज अमेरिका की ओरेगन स्टेट यूनिवर्सिटी (ओएसयू) के लिनस पॉलिंग संस्थान के शोधार्थियों ने एक अध्ययन के दौरान की है। शोधार्थियों ने इस शोध के लिए जेब्राफिश पर अध्ययन किया था। 

जेब्राफिश (अंजु मछली) एक वर्टब्रल (हड्डीवाली) है, जिसका तंत्रिका विकास काफी हद तक मानवों के समान है। इस पर किए गए शोध के निष्कर्ष बताते हैं कि विटामिन-ई डोकोसेहेक्सॉनिक एसिड (डीएचए) के स्तरों को सुरक्षा प्रदान करता है। इसकी कमी में डीएचए के स्तर प्रभावित होते हैं, और तंत्रिका तंत्र की क्षति का कारण बनते हैं। 

डीएचए ओमेगा-3 फैटी एसिड में सबसे महत्वपूर्ण माना जाता है और यह मस्तिष्क और कोशिका विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। 

लिनस पॉलिंग इंस्टीट्यूट और कॉलेज ऑफ पब्लिक हेल्थ एंड ह्यूमन साइंसेज से मेलिसा मैकदुगल ने बताया, "विकासशील भ्रूण में डीएचए कोशिका संकेतन और झिल्ली के विकास के लिए बहुत महत्वपूर्ण है।" 

उन्होंने कहा, "हमारे शोध में पता चला है विटामिन-ई का पर्याप्त स्तर भ्रूण में डीएचए की कमी को रोकने में महत्वपूर्ण है।" 

विटामिन-ई का सबसे सामान्य स्रोत बादाम, बीज, पत्तेदार सब्जियां जैसे पालक और सूरजमुखी तथा कनोला जैसे वनस्पति तेल हैं। निम्न वसा वाले आहार में विटामिन-ई काफी कमी होती है। 

यह शोध 'रिडॉक्स बायोलॉजी' पत्रिका में प्रकाशित हुआ है।

Comments
(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है)

NDTV Food Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं ताजा फूड खबरें , चटपटे जायके, हेल्थ टिप्स, ब्यूटी के कारगर नुस्खे और टिप्स और फूड एंड ड्रिंक से जुड़ी खबरें भी.

Advertisement
ताजा लेख
Advertisement