Diabetes Diet: 5 फूड और जड़ी बूटी जो करेंगी ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल

यह जरूरी है कि डायबिटीज के लक्षण (diabetes symptoms) को पहचान कर शुरुआत में ही उसे नियंत्रित कर लिया जाए. डायबिटीज के कारण (diabetes cause) भी अलग-अलग हो सकते हैं. डायबिटीज सीधे तौर पर शरीर में इंसुलिन के (insulin levels) स्तर को प्रभावित करता है.

एनडीटीवी  |  Updated: August 23, 2019 15:50 IST

Reddit
Diabetes Diet in Hindi: 5 Foods And Herbs That Help Regulate Blood Sugar Levels and managing diabetes naturally

डायबिटीज के लक्षण (diabetes symptoms) शुरुआत में ही पहचान कर उसे कंट्रोल किया जा सकता है.

Highlights
  • डायबिटीज के लक्षण शुरुआत में ही पहचान कर उसे कंट्रोल किया जा सकता है.
  • डाइबिटीज आज बहुत तेजी से फैल रहा है.
  • यहां पढ़ें 5 मधुमेह रोधी आहार और जड़ी बूटियां

Anti-Diabetic Foods And Herbs in Hindi: डाइबिटीज आज बहुत तेजी से फैल रहा है. डायबिटीज या मधुमेह दुनियाभर में लोगों को अपना शिकार बना रही है. ब्लड शुगल लेवल पर बुरा प्रभाव डालने के अलावा मधुमेह कई अन्य दूसरी गंभीर जटिलताओं (serious complications) या सेहत से जुड़ी परेशानियों की वजह बनती है. डायबिटीज से होने वाले रोगों की लिस्ट लंबी है. यह जरूरी है कि डायबिटीज के लक्षण (diabetes symptoms) को पहचान कर शुरुआत में ही उसे नियंत्रित कर लिया जाए. डायबिटीज के कारण (diabetes cause) भी अलग-अलग हो सकते हैं. डायबिटीज सीधे तौर पर शरीर में इंसुलिन के (insulin levels) स्तर को प्रभावित करता है. हम मानते हैं कि डायबिटीज से होने वाले रोगों की लिस्ट और खतरे की संभावनाएं डरावनी हो सकती हैं, लेकिन मधुमेह या डायबिटीज को कंट्रोल किया जा सकता है और इससे होने वाले खतरों को रोका जा सकता है. ऐसा आप नियमित व्यायाम, डायबिटीज के लिए सही आहार (diabetic diet) अपनाकर कर सकते हैं. मधुमेह को सही आहार (diabetes diet chart) और विभिन्न मधुमेह विरोधी खाद्य पदार्थों और जड़ी-बूटियों (Anti-diabetic foods and herbs) से मधुमेह को नियंत्रित किया (diabetes can be controlled) जा सकता है. तो चलिए सोचना क्या, इस लेख में हम आपको बताते हैं ऐसे ही एंटी-डायबिटिक फूड और जड़ी-बूटियों के बारे में जो डायबिटीज को कंट्रोल करने के उपाय साबित हो सकते हैं. हालांकि, कोई भी आहार संबंधी बदलाव या किसी भी जड़ी बूटी का सेवन करने से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर लेनी चाहिए. 



5 मधुमेह रोधी आहार और जड़ी बूटियां (Anti-Diabetic Foods And Herbs in Hindi)

तब जब आपको पता चल चुका हो कि आपको डायबिटीज है (diagnosed with diabetes) और आप डायबिटीज का सामना कर रहे हैं, तो आपको मधुमेह को नियंत्रित करने (control diabetes) करने के लिए कदम उठाने की जरूरत है. डायबिटीज को कंट्रोल करने के टिप्स इसमें बहुत मदद करते हैं. तो हम आपको बताते हैं ऐसे 5 खाद्य पदार्थों और जड़ी बूटियों के बारे में जो आपको मधुमेह या डायबिटीज को कंट्रोल करने में मदद करेंगे और ब्लड शुगर लेवले को भी सामान्य रखने (manage your blood sugar levels) के काम आएंगे.



डायबिटीज को कंट्रोल करने के लिए खाएं करेला (Bitter Melon and Diabetes) 

Bitter Melon या करेला, जिसे मोमोर्डिका चारेंटिया के रूप में भी जाना जाता है, एक औषधीय फल है जो कुछ मधुमेह रोगियों के लिए फायदेमंद माना जाता है. करेलाग ब्लड शुगर यानी रक्त शर्करा के स्तर को कम करने में सहायक होता है. करेले को कई तरह से आहार में शामिल किया जा सकतो है जैसे, सब्जी बनाकर, करेले का जूस बनाकर भी. करेले के पोषण मूल्य (Nutritional Value of Bitter Gourd) जान लेना भी जरूरी है. यूएसडीए के अनुसार, 100 ग्राम करेले में 13 मिलीग्राम सोडियम, 602 ग्राम पोटेशियम, 7 ग्राम कुल कार्बोहाइड्रेट और 3.6 ग्राम प्रोटीन के साथ लगभग 34 कैलोरी होती है. करेला शरीर में इन्सूलिन को सक्रिय करता है, जिससे ब्लड में मौजूद शुगर फैट में नहीं बदल पाता और बॉडी उसका सही इस्तेमाल कर पाती है. शुगर के फैट में न बदलने के कारण वजन कम करने में भी मदद भी मिलती है. सुबह एक गिलास करेले के जूस के सेवन से ब्लड शुगर लेवल को संतुलित और नियमित करने में काफी सहायता मिलती है.



मधुमेह को नियंत्रित करने में मददगार है दालचीनी (How Cinnamon Lowers Blood Sugar and Fights Diabetes)

दालचीनी एक लोकप्रिय जड़ी बूटी है, जो डायबिटीज या मधुमेह के रोगियों के लिए बहुत काम की साबित हो सकती है. यह एक ऐसी बूटी है जो एक पेड़ की छाल से तैयार की जाती है. जैसा कि हम जानते हैं डायबिटीज या मधुमेह के रोगियों को चीनी से परहेज करना होता है, ऐसे में डायबिटीज के रोगी चीनी की जगह किसी चीज में मिठास जोड़ने के लिए इसे चीनी के विकल्प के रूप में इस्तेमाल कर सकते हैं. यही कारण है कि यह टाइप -2 मधुमेह रोगियों के बीच काफी लोकप्रिय है. दालचीनी कई मायनों में अच्छी है. यह ग्लूकोज, पाचन, इंसुलिन, इंसुलिन संवेदनशीलता, रक्तचाप के स्तर, एंटीऑक्सिडेंट की स्थिति और कई अन्य लोगों के स्तर में सुधार करने में मदद करती है.



डायबिटीज को कंट्रोल करने के लिए खाएं मेथी (Can Fenugreek Lower My Blood Sugar?)

मेथी को रक्त शर्करा (Fenugreek Control Blood Sugar) के स्तर को कम करने में मदद करने के लिए जाना जाता है. यह फाइबर और रसायनों में भरपूर है, जो कार्बोहाइड्रेट और ब्लड शुगर लेवल को कम कर पाचन में मदद करते हैं. शोधकर्ताओं ने पाया है कि सही मात्रा में मेथी का सेवन कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद करता है और इंसुलिन के स्तर को बढ़ाने में भी मदद करता है, जिससे रक्त शर्करा के स्तर में कमी आती है. मेथी का सेवन कई अलग-अलग तरीकों से किया जा सकता है जैसे कि इसे गर्म पानी में मिलाकर, इसे कुछ खाद्य पदार्थों में एक जड़ी बूटी के रूप में मिलाएं, इसे पीसकर या पाउडर के रूप में इसके चूर्ण के रूप में सेवन कर सकते हैं. 

qbon87m8

Benefits of Fenugreek: मधुमेह के लिए भोजन में शामिल करें मेथी.

अदरक करेगी मधुमेह को कंट्रोल (How Ginger Can Help Control Blood Sugar?)

अदरक को लंबे समय से कई बीमारियों को ठीक करने के लिए दवा के रूप में इस्तेमाल किया जाता है. साल 2015 में किए गए एक रिव्यू के अनुसार अदरक डायबिटीज मैनेजमेंट (managing diabetes) में बहुत ही कारगर साबित हो सकती है. रिव्यू के नतीजों के अनुसार अदरक ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने और साथ ही इंसुलिन के स्तर को भी संयमित रखने में मददगार साबित हुई. यह इंसुलिन के स्तर को कम नहीं होने देती. कई शोध यह साबित कर चुके हैं कि अदरक एक बहुत ही प्रभावी एंटी-डायबिटक फूड है. अदरक को भी आप अपने आहार में कई तरह से शामिल कर सकते हैं. आप अदरक की चाय बना सकते हैं, इसे सब्जी में डाल सकते हैं या किसी जूस में भी शामिल कर सकते हैं.



opk0k7g8

Benefits of aloe vera: डायबिटीज को कंट्रोल करेगा एलोवेरा.

डायबिटीज को कंट्रोल करेगा एलोवेरा (Aloe Vera and Diabetes)

त्वचा के लिए एलोवेरा के फायदे तो हर कोई जानता है, लेकिन क्या आप जानते हैं कि ऐलोवरा टाइप -2 मधुमेह में भी बहुत फायदेमंद है. एलोवेरा अग्न्याशय में इंसुलिन पैदा करने वाली बीटा कोशिकाओं की सुरक्षा और मरम्मत में मदद करता है. यह जड़ी बूटी एंटीऑक्सिडेंट से भरपूर है. एलोवेरा का सेवन या तो कैप्सूल के रूप में किया जा सकता है, या स्मूदी या पेय में रस वाले गूदे को मिलाकर.



नोट: अपने आहार में किसी भी तरह का बदलाव डॉक्टस से सलाह लेकर ही करें.

और खबरों के लिए क्लिक करें.

Comments

NDTV Food Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं ताजा फूड खबरें , चटपटे जायके, हेल्थ टिप्स, ब्यूटी के कारगर नुस्खे और टिप्स और फूड एंड ड्रिंक से जुड़ी खबरें भी.

Advertisement
ताजा लेख
Advertisement