Eid al-Adha 2019 Date: बकरीद से पहले पेटा ने लोगों से की यह अपील, कहा डाइट में करें ये बदलाव

Eid al-Adha 2019 Date: ईद उल जुहा (Eid ul-Adha) या बकरीद(Bakr Id) , ईद उल फित्र के दो महीने नौ दिन बाद मनाई जाती है. फतेहपुरी मस्जिद के शाही इमाम मौलाना मुफ्ती मुकर्रम अहमद ने बताया कि दिल्ली और उत्तर प्रदेश के अलग-अलग शहरों समेत देश के कई हिस्सों में चांद नजर आ गया है.

प्रेस ट्रस्ट ऑफ इंडिया  |  Updated: August 05, 2019 11:40 IST

Reddit
Eid al-Adha 2019 Date, and pata Release video before eid | Bakr Id/Eid ul-Adha in India

Eid al-Adha 2019 Date: 12 अगस्त, 2019 के दिन बकरा ईद मनाई जाएगी.

Eid al-Adha 2019 Date: बकरीद 2019, 12 अगस्त के दिन है. 12 अगस्त को सोमवार का दिन है. इससे पहले दिल्ली में 2 अगस्त को ईद उल अजहा के चांद के दीदार हो गए. ईद उल जुहा (Eid ul-Adha) या बकरीद(Bakr Id) , ईद उल फित्र के दो महीने नौ दिन बाद मनाई जाती है. फतेहपुरी मस्जिद के शाही इमाम मौलाना मुफ्ती मुकर्रम अहमद ने बताया कि दिल्ली और उत्तर प्रदेश के अलग-अलग शहरों समेत देश के कई हिस्सों में चांद नजर आ गया है. लिहाजा बकरीद (Eid ul-Adha 2019) का त्यौहार 12 अगस्त, दिन सोमवार को मनाया जाएगा. वहीं इमारत-ए-शरिया हिंद ने भी ऐलान किया कि शुक्रवार शाम को इस्लामी महीने ज़ुलहज्जा का चांद नजर आ गया है और शनिवार को इस्लामी कलैंडर के आखिरी महीने की पहली तारीख है. 



वहीं पेटा (PETA) ने बकरीद के त्यौहार पर बकरों की ‘क्रूर हत्या' किये जाने पर पर चिंता जताते हुए लोगों से ‘शाकाहारी' बनने का अनुरोध किया है. साथ ही, सरकार से यह सुनश्चित करने के लिए कहा है कि बकरों के साथ कोई निर्ममता नहीं बरती जाए. ‘एथिकल ट्रीटमेंट ऑफ एनिमल्स' (पेटा) ने राजस्थान के अलवर का एक वीडियो जारी किया है, जिसमें निर्ममता से बकरों का बंध्याकरण किया जा रहा है. पेटा के सहायक निदेशक निकुंज शर्मा ने कहा कि बकरीद से ठीक पहले आया वीडियो यह प्रदर्शित करने के लिए जारी किया गया है कि बकरों को चाहे कसाई काटे या कोई अन्य, उन्हें बहुत तकलीफ होती है और वे मरना नहीं चाहते हैं.    उन्होंने कहा कि इसमें दिखाया गया है कि बकरों को जूट की बोरी में डाल कर दो पहिया वाहन पर सामान की तरह ढोया जाता है. 

ch7ogkmg

Eid al-Adha 2019 Date: बकरीद 2019, 12 अगस्त के दिन है.  

पशुपालन, डेयरी और मत्स्य पालन मंत्री गिरिराज सिंह को लिखे पत्र में पेटा इंडिया ने यह सुनिश्चित करने का अनुरोध किया है कि बकरों का बंध्याकरण उन्हें बेहोश कर किया जाए. साथ ही, उन जगहों का निरीक्षण किया जाए, जहां बकरों को मारा जाता है.



ईद उल अज़हा या बकरीद 12 अगस्त को मनाई जाएगी. इस मौके पर मुस्लिम समुदाय के लोग पशु की कुर्बानी देते हैं. 

और खबरों के लिए क्लिक करें.

Comments

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

NDTV Food Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं ताजा फूड खबरें , चटपटे जायके, हेल्थ टिप्स, ब्यूटी के कारगर नुस्खे और टिप्स और फूड एंड ड्रिंक से जुड़ी खबरें भी.

Advertisement
ताजा लेख
Advertisement