Food for weight loss: डाइट में इन्हें शामिल करने से जल्द घटेगा वज़न

जब लो कार्बोहाइड्रेट डाइट की बात आती है, तो आलू सख्त मना किए जाते हैं. लेकिन साइंस ने इसके दूसरे पहलू को उजागर कर बताया है कि आलू वज़न कम करने में मदद करते हैं.

एनडीटीवी  |  Updated: August 30, 2018 13:41 IST

Reddit
Fastest Way to Lose Weight in Hindi
वजन कम करने के लिए सख्त डाइट फॉलो करने से अच्छा है, स्मार्ट डाइट का अनुसरण करना. वजन घटाने के लिए क्या खाया जाए, यह जान लेना ही जरूरी नहीं है. नियमित व्यायाम के साथ-साथ खाद्य पदार्थों के कॉम्बिनेशन के पीछे काम करने वाले विज्ञान को समझना भी जरूरी होता है. खाने के सही संयोजन के बारे में शोध ने भी यही पुष्टि की है, जिसे बड़े-बड़े शेफ और बावर्ची पहले से जानते हैं. उनका कहना है कि दो महत्वपूर्ण सामग्री को एक कर उनका लाभ उठाया जा सकता है. यह साझेदारी में ही काम करते हैं.

फूड कॉम्बिनेशन की है जरूरत
आपके खाने का कॉम्बिनेशन पोषक तत्वों के अवशोषण पर प्रभाव डालता हैं. वहीं, आपके ब्लड शुगर पर भी इसका असर पड़ता है, जो कि हार्मोन्स नियंत्रित करने का काम करता है. यह आपका वज़न घटा और बढ़ा सकता है. खाने के कॉम्बिनेशन का हमारी पाचन प्रक्रिया पर प्रभाव पड़ता है, जो कि वज़न कम करने की चाबी है. जब खाने को सही क्रम में खाते हैं, तो उस समय पोषक तत्व बेहतर तरीके से अवशोषित होते हैं और पाचन तंत्र को टॉक्सिन मुक्त रखते हैं.  
  
हम यहां आपको कुछ खाने के कॉम्बिनेशन के बारे में बता रहे हैं, जिन्हें ब्रेकफास्ट लिस्ट में शामिल किया जा सकता है. इनमें स्नैक से लेकर पेय पदार्थ तक शामिल हैं.

बादाम और दही


यह एक जानी-मानी सच्चाई है कि अच्छे फैट लाइकोपीन अवशोषण को बढ़ाते हैं, जो कि शरीर में कैंसर का रिस्क कम कर देते हैं. लेकिन क्या आपको पता है बहुत से जरूरी विटामिन को फैट के साथ खाया जाता है, तो वह सक्रिय हो जाते हैं? विटामिन ए, विटामिन डी और विटामिन ई आदि को फैट में घुलनशील माना जाता है. गाजर, ब्रॉकली, मटर में विटामिन ए भरपूर मात्रा में पाया जाता है और इन्हें हेल्दी फैट के साथ ही खाना चाहिए जैसे जैतून का तेल. फिश, दूध, दही ऑरेंज जूस आदि विटामिन डी के स्रोत हैं. वहीं, विटामिन ई सूरजमुखी के बीज, नट्स, एवोकाडो में पाया जाता है. दही में थोड़ें से कटे हुए बादाम मिलाकर फैट भरी डाइट ले सकते हैं.

क्विक टिपः फैट घुलनशील खाद्य पदार्थों के साथ सबसे ज़्यादा विटामिन ई पाने के लिए उसके साथ बेक किए हुए आलू के टुकड़े, पालक का सलाद ऊपर से जैतून का तेल डालकर खाएं.

चावल और मटर



हम में से बहुत से लोगों का मानना है कि बढ़ती उम्र में वज़न बढ़ने जैसी परेशानी हो जाती है और यही जिंदगी की सच्चाई है, लेकिन ऐसा बिल्कुल भी नहीं है. जैसे-जैसे उम्र बढ़ती है, हमारी कमजोर मांसपेशियां ढीली पड़ जाती हैं और यह एक प्राकृतिक मेटाबॉलिस्म बूस्टर है, जो कि कैलोरी जलाने में मदद करता है. इन्हें बरकरार रखने का एक अच्छा तरीका है, हल्का वज़न उठाया जाए. इसके साथ ही, ध्यान रखें कि आपकी 25 से 35 प्रतिशत तक की कैलोरी प्रोटीन से आनी चाहिए.

लाल मिर्च और पोल्ट्री एक अच्छा विकल्प है, लेकिन इनमें सैचुरेटिड फैट की मात्रा बहुत ज़्यादा होती है. चावल में कम अमीनो एसिड होने के कारण वह अधूरे प्रोटीन में गिना जाता है, और मटर डालकर इसका सतुंलन बराबर किया जा सकता है. चावल और मटर के कॉम्बिनेशन से आपकी बॉडी को हेल्दी प्रोटीन मिलेंगे.

इस कॉम्बिनेशन के साथ आप ब्राउन चावलों में बीन्स और मटर भी ट्राई कर सकते हैं. इससे आपके शरीर को भरपूर पौटेशियम और मिनरल्स मिलेंगे, जो कि कमजोर हो चुकी मांसपेशियों को ठीक करने में मदद करेगें.

ये भी पढ़ें- Benefits of Amla: ये है 100 रोगों की 1 दवा, जानें इसके 10 बड़े फायदों के बारे में...

ये भी पढ़ें- Garam Masala Benefits: मसालों का यह लजीज मेल आपकी सेहत के लिए भी है फायदेमंद

ये भी पढ़ें- बीमारी को बुलावा दे सकते हैं स्टेनलेस स्टील बर्तन, जानें कैसे


पालक और एवोकाडो तेल



अगर आप रोज़ पालक और जैतून के तेल से बने सलाद से बोर हो गए हैं, तो एवोकाडो तेल के साथ पालक मिक्स कर सकते हैं. एवोकाडो स्वस्थ दिल के लिए फायदेमंद मोनोसैचुरेटिड फैट से भरपूर होता है, जो कि कोलेस्ट्रॉल सुधारने में मदद करता है. साथ ही, भूख कम करता है. यही नहीं, इसमें विटामिन बी और ई होता है. अध्ययन बताते हैं कि जो लोग उच्च पानी स्रोत वाला खाना खाते हैं जैसे पत्तेदार सब्जियां, उनका बीएमएई (बॉडी मास इंडेक्स) और कमर दोनों कम हो जाते हैं. तो हरी सब्जियों के साथ जाओ, और पतले हो जाओ!

सालसा और छोले



क्या आप अच्छे स्नैक ऑप्शन का इंतजार कर रहे हैं? तो इसे ट्राई करें. सालसा में छोलों को हल्का-सा डिबो लें, इससे वह बिना कैलोरी बढ़ाए, आपके अदंर प्रोटीन बूस्ट करेगें. इसके साथ ही, नियमित रूप से छोले खाने से आपकी खाने की पसंद में भी सुधार होगा. अध्ययन से पता लगा है कि जो लोग एक दिन में आधा कप छोले खाते हैं, उनका एक पाउंड (500  ग्राम) तक वज़न कम हो जाता है, साथ ही भूख भी कम हो जाती है.

लाल मिर्च और चिकन


आज रात अगर आप चिकन खाने की सोच रहे हैं, तो देर किस बात की? चिकन आपके लिए अच्छा है. आइए जानें कैसे- शोध के अनुसार प्रोटीन से भरपूर पोल्ट्री जल्दी संतुष्ट करती है, साथ ही लोगों को खाना कम खाने में भी मदद करती है. फैट जलाने की प्रक्रिया में आप लाल मिर्च शामिल कर सकते हैं. मिर्च में पाया जाने वाला यौगिक कैपसेसिन भूख दबा देता है और भोजन को एनर्जी में बदलने के लिए शरीर की क्षमता बढ़ाता है.

एक ग्राम लाल मिर्च (लगभग आधा छोटा चम्मच) भूख न लगने को बरकरार रखती है, साथ ही खाने के बाद कैलोरी जल्दी बर्न करती है. तो चिकन, मौसमी फिश, मीट और अंडों के साथ एक चुटकी लाल मिर्च के साथ अपने टेस्ट को बरकरार रख सकते हैं.

खरबूजा और लाल अंगूर


लाल अंगूर और खरबूजे का फ्रूट सलाद, फैट के साथ सूजन को रोकने में मदद करता है. खरबूजा एक प्राकृतिक डाइयुरेटिक (यूरीन के फ्लो को बढ़ाना) है, यह वॉटर रिटेंशन से लड़ने में मदद करता है,  पेट पतला होने के बावजूद यह आपकी बॉडी को मोटा और स्थूल बनाता है. लाल अंगूर बेली फैट कम करते हैं, क्योंकि वह एंटी-ऑक्सीडेंट होते हैं जिन्हें एंथोसायनिन कहते हैं. यह फैट जमने की प्रक्रिया को धीमा कर देते हैं. यह गर्मियों में बनने वाला हेल्दी और स्वादिष्ट डेजर्ट है.

ये भी पढ़ें- अपनी डेली डाइट में शामिल करें किन्‍नू, मिलेगी परफेक्‍ट हेल्‍थ

ये भी पढ़ें- Benefits of Amla: ये है 100 रोगों की 1 दवा, जानें इसके 10 बड़े फायदों के बारे में...

ये भी पढ़ें- Garam Masala Benefits: मसालों का यह लजीज मेल आपकी सेहत के लिए भी है फायदेमंद

ये भी पढ़ें- बीमारी को बुलावा दे सकते हैं स्टेनलेस स्टील बर्तन, जानें कैसे


आलू और काली मिर्च



जब लो कार्बोहाइड्रेट डाइट की बात आती है, तो आलू सख्त मना किए जाते हैं. लेकिन साइंस ने इसके दूसरे पहलू को उजागर कर बताया है कि आलू वज़न कम करने में मदद करते हैं. शोधकर्ताओं का कहना है कि फाइबर से भरपूर ब्राउन चावल और ओटमील के आगे आलू पेट जल्दी भर देता है और यह सूजन दूर करने वाले पैटेशियम का अच्छा स्रोत है. तो आलूओं से आप एकदम से पतले लग सकते हैं. बस, ध्यान रखें कि मक्खन की जगह काली मिर्च का प्रयोग करें. काली मिर्च से बनने वाले पाइपराइन काफी प्रभावी यौगिक है, जो काली मिर्च को एक अलग टेस्ट देता है. यह नई फैट कोशिकाओं के साथ हस्तक्षेप कमर कम करने, बॉडी से फैट घटाने और कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम करने में मदद करते हैं.

क्विक टिपः आधे पके आलूओं को जैतून के तेल और काली मिर्च के साथ खाएं.

कॉफी और दालचीनीः यह कॉम्बिनेशन बहुत जल्द ही आपका पसंदीदा बन जाएगा अगली बार कॉफी शॉप में अपनी कॉफी में दालचीनी डाले बिना नहीं रह पाएंगे. यह टेस्ट से भरी, कैलोरी फ्री और प्रभावशाली एंटी-ऑक्सीडेंट वाली होती है, जो कि बैली फैट कम करने में सहायक है. भूख दबाने के लिए एक कप कॉफी के साथ दालचीनी लें और आपका वज़न घटना शुरू हो जाएगा.

अगर आप घर पर ही कॉफी बना रहे हैं, तो अच्छे टेस्ट और वज़न घटाने के फायदे के लिए उसमें दालचीनी डालना न भूलें.

CommentsFoodHindi  से और खबरों के लिए क्लिक करें.
 

NDTV Food Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं ताजा फूड खबरें , चटपटे जायके, हेल्थ टिप्स, ब्यूटी के कारगर नुस्खे और टिप्स और फूड एंड ड्रिंक से जुड़ी खबरें भी.

Advertisement
ताजा लेख
Advertisement