Partial Solar Eclipse 2019: आंशिक सूर्य ग्रहण में खाने के सेवन को लेकर ये हैं गलत धारणाएं

सूर्यग्रहण के संबंध में कई मिथक हैं जो लोगों के बीच फैले हुए हैं. अंधविश्वास है कि विषाक्त विकिरणों की वज़ह से पर्यावरण में विषाणु फैलते हैं जो खाने को दूषित करते हैं.

NDTV Food Hindi  |  Updated: January 06, 2019 13:29 IST

Reddit
Food And Diet Myths Related To Partial Solar Eclipse 2019

आंशिक सूर्य ग्रहण 2019: विशेषज्ञों ने तोड़ा भ्रम

Highlights
  • आदिकाल से मानवीय सभ्यता में ग्रहण को खगोलीय घटना माना जाता रहा है
  • अंधविश्वास है कि विषाक्त विकिरणों की वज़ह से पर्यावरण में विषाणु फैलते है
  • भोजन के सेवन न करने की धारणाओं पर विश्वास नहीं किया जाना चाहिए.

ग्रहण का मौसम आज से शुरू हो चुका है. आज 6 जनवरी 2018 को साल का पहला आंशिक सूर्यग्रहण है. आदिकाल से मानवीय सभ्यता में ग्रहण को खगोलीय घटना माना जाता रहा है. 2019 में कई ऐसे मौके हैं जब सूर्य ग्रहण देखने को मिलेगा. आज सुबह 5 बजे (भारतीय समयानुसार) से सूर्यग्रहण पड़ रहा है. हालांकि भारतीय उपमहाद्वीप में ये लोगों को दिखाई नहीं देगा.

आंशिक सूर्यग्रहण का समय

2019 का पहला नया चांद कथित तौर पर पृथ्वी और सूर्य के बीच से गुजरने की वजह से ये आंशिक सूर्यग्रहण पड़ रहा है. ये आम लोगों को स्पष्ट रूप से नज़र नहीं आएगा. दुनिया में अलग-अलग जगहों पर आंशिक सूर्यग्रहण का वक्त अलग-अलग है. भारतीय समयानुसार ये सूर्य ग्रहण सुबह 5 बजे शुरू हुआ. 

आंशिक सूर्यग्रहण (Surya Grahan 2019) के वक्त खाने से जुड़ी गलत धारणाएं: 

आंशिक सूर्यग्रहण के संबंध में कई मिथक हैं जो लोगों के बीच फैले हुए हैं. अंधविश्वास है कि विषाक्त विकिरणों की वज़ह से पर्यावरण में विषाणु फैलते हैं जो खाने को दूषित करते हैं. यही वज़ह है कि लोग आंशिक सूर्यग्रहण के वक्त फलों, सब्जियों को काटने से भी बचते हैं. 

piflbdegसूर्य ग्रहण 2019: कुछ लोग मानते हैं कि इस दौरान खाना हानिकारक हो जाता है


सूर्यग्रहण 2019: क्या कहते हैं विशेषज्ञ?

इन मिथक और अंधविश्वासों को लेकर वैज्ञानिक और विशेषज्ञ मानते हैं कि इस दौरान भोजन और पानी का सेवन न करने की धारणाओं पर विश्वास नहीं किया जाना चाहिए. विशेषज्ञ बताते हैं कि इन मिथकों पर विश्वास न करने की वज़ह इसके पीछे तर्कों का न होना है. नेशनल एयरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन यानि नासा (NASA) के मुताबिक सूर्यग्रहण के वक्त हानिकारण विकिरण की बात झूठे विचार से प्रेरित है. अगर ये हानिकारक विकिरण होता तो ये आपकी पेंट्री या खेतों में भी फसलों को नुकसान पहुंचाते. नासा के मुताबिक हर जगह सभी परिस्थितियां एक सी नहीं होतीं तो इसे हर जगह लागू नहीं किया जा सकता. अगर किसी अन्य वज़ह से आपका आलू या सलाद हानिकारक हो जाता है तो कुछ लोग इसके पीछे तर्क दे सकते हैं कि ये घटना ग्रहण की वज़ह से हुई है.

पोषण विशेषज्ञ डॉ. रूपाली दत्ता कहती हैं कि ग्रहण के समय भोजन के हानिकारक होने का कोई कारण नहीं है. आंशिक सूर्य ग्रहण के दौरान भोजन का सेवन करने में कोई बुराई नहीं है. ये आंशिक सूर्य ग्रहण उत्तर पूर्व एशिया के कुछ हिस्सों सहित चीन, जापान, कोरिया उत्तरी प्रशांत महासागर और अलास्का के कुछ हिस्सों में है. 

Comments

NDTV Food Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं ताजा फूड खबरें , चटपटे जायके, हेल्थ टिप्स, ब्यूटी के कारगर नुस्खे और टिप्स और फूड एंड ड्रिंक से जुड़ी खबरें भी.

Advertisement
ताजा लेख
Advertisement