जीरो फिगर पाने की ललक में चल रहा डाइटिंग करने का फैशन

NDTV फूड की रिपोर्ट, खुशबू विश्नोई द्वारा संपादित  |  Updated: June 30, 2016 12:29 IST

Reddit
For Zero Figure Follow This Diet, It Won't Make You Fat In Hindi
जब हम मोटे होते हैं और एक्सरसाइज़ और व्यायाम कर अपना वज़न कम कर लेते हैं, तो हम खुद के लिए काफी कॉन्शस हो जाते हैं। डाइट को कंट्रोल करना, किसी भी समय कुछ भी न खाना, तली-भुनी चीज़ों से खुद को दूर रखना, व्यायाम करना न छोड़ना, बाहर के जंक फूड को नज़रअंदाज़ करना, वज़न कम करने के बाद हम इन सभी चीज़ों को फॉलो करने लगते हैं। एक बार वेट कम करने के बाद हम अपने खाने को लेकर इतने सतर्क हो जाते हैं कि अगर कोई भी हमें कुछ भी ऑफर करे, तो उसे लेने से पहले हम कई बार सोचते हैं। कई लोग तो ऐसे में बहाने भी बनाते हैं।

जिन लोगों को हर पल इस बात की चिंता रहती है कि वह क्या खा रहे हैं, उनका वज़न कितना है और मोटे होने पर वह दूसरों से नजरें कैसे मिलाएंगे, वे एक प्रकार की बीमारी से घिरे होते हैं। उनकी इस हालत को खानपान की अनियमितता की बीमारी कहा जाता है। यह स्थिति इतनी गंभीर होती है कि ऐसे में व्यक्ति खानपान की गड़बड़ी से मर तक सकता है, खाने को फेंक सकता है या फिर इच्छा अनुरूप वज़न पाने के लिए कई तरीकों से अपने आप को नुकसान भी पहुंचा सकता है।
 

इस बारे में हार्ट केयर फाउंडेशन ऑफ इंडिया के अध्यक्ष और आईएमए के मानद सचिव डॉ. के. के. अग्रवाल ने बताया कि “जीरो साइज फिगर पाने की ललक, भारत के युवाओं में काफी बढ़ रही है, जिसकी वजह से खानपान की अनियमितताओं को बढ़ावा मिल रहा है। वज़न कम करने वाले डॉक्टर या डायटिशियन का फर्ज बनता है कि वे अपने मरीज में इस गड़बड़ी का ध्यान रखें। उन्हें, उनके खानपान से सेहत पर पड़ने वाले असर के बारे में जानकारी दें”।करना पड़ सकता है कई समस्याओं का सामना

अगर आप किसी प्रकार की डाइट फॉलो कर रहे हैं, तो जाहिर-सी बात है कि आप उसमें सही मात्रा में पोषक तत्व, कैल्शियम, विटामिन आदि चीज़ों को शामिल करेंगे। लेकिन कई बार ऐसा होता है कि एक प्रकार की डाइट लेने से हमें अंदरूनी कई समस्याएं होने लगती हैं, जिनकी जानकारी डॉक्टर को देना काफी महत्वपूर्ण है। आइए आपको बताते हैं ऐसी छोटी-छोटी समस्याओं के बारे में:

एर्नोरेक्जिया नर्वोसाः इस समस्या से पीड़ित लोगों को वज़न बढ़ने का डर लगा रहता है। ऐसे में वे समान्य से कम वज़न होने पर भी खुद को मोटापे का शिकार मानते हैं। इस समस्या से पीड़ित व्यक्ति, दिन में कई बार अपना वज़न जांचते हैं और बहुत कम खाते हैं। इसकी वज़ह से उनमें एनीमिया, भुरभुरे बाल और नाखून, कब्ज, सुस्ती, थकान, रक्तचाप में कमी आदि समस्याएं हो सकती हैं।

बुलिमिया नर्वोसाः इससे पीड़ित लोग, एक ही बारी में बहुत सारा खाना खा लेते हैं। इसे बिंज ईटिंग भी कहा जाता है। ऐसे लोगों को लगता है कि उनका खाने पर कोई नियंत्रण नहीं है। इसलिए वे अत्यधिक व्यायाम करने, जबर्दस्ती उल्टी करने और उपवास करने लग जाते हैं। वे इसके चलते डियूरेटिक्स, लेक्जेटिव्स या एनीमा का भी इस्तेमाल करने लगते हैं। इस वजह से उनमें एसिड रिफ्लक्स डिसऑर्डर, गले में लगातार सूजन, पानी की कमी और उल्टी से डीहाईड्रेशन, इलैक्ट्रोलाइट इम्बैलेंस, गैस्ट्रोइन्टेस्टाइनल गड़बड़ी आदि समस्याएं पैदा होने लगती हैं।
 

बिंज ईटिंग डिसऑर्डरः इसमें पीड़ित का खानपान पर कोई नियंत्रण नहीं होता है। ऐसे लोग नियमित तौर पर अत्यधिक खाते हैं। इतना ज़्यादा कि उन्हें बेचैनी और दर्द होने लगता है। भूख न होने पर और पेट भर जाने के बाद भी वे खाते रहते हैं। ऐसे लोग मोटापे का शिकार हो सकते हैं। इसकी वज़ह से दिल के रोग और उच्च रक्तचाप का खतरा बढ़ सकता है।

सेहतमंद आहार टिप्स

समस्याएं होने के बाद भी अगर आप सेहतमंद डाइट लें, तो अच्छा जीवन व्यतीत कर सकते हैं। आइए जानते हैं कैसेः

Commentsरोज़ के खाने में सोडियम की मात्रा कम होनी चाहिए। व्यक्ति के लिए दिन में छह ग्राम से ज़्यादा सोडियम खतरनाक साबित हो सकता है। खाने में शामिल होने वाला वनस्पति घी, ट्रांस फैट युक्त होता है, जो दिल के लिए खतरनाक हो सकता है। इसके अलावा यह अच्छा कोलेस्ट्रॉल कम कर खराब कोलेस्ट्रॉल को बढ़ावा देता है। जितना हो सके, बाहर का खाने से दूर रहना चाहिए।
 

रेस्तरां और होटल का खाना, ट्रांस फैट से भरा होता है, जो दिल के लिए हानिकारक हो सकता है। सफेद ब्रेड, सफेद आटा, चावल और चीनी जैसे रिफाइन्ड कार्बोहाईड्रेट्स की जगह सम्पूर्ण अनाज का आटा, हरी सेहतमंद सब्जियां और ओट-मील को अपना खाने में ज़रूर शामिल करें। जिस भी चीज में 10 प्रतिशत से ज़्यादा मीठा हो उसे खाने में कम इस्तेमाल करें। आमतौर पर कोल्डड्रिंक्स में 10 प्रतिशत मीठा और भारतीय मिठाइयों में 30-50 प्रतिशत मीठा मौजूद होता है, जो सेहत के लिए नुकसानदायक है। इसलिए जितना हो सके, हेल्दी और पोषक तत्वों से भरपूर खाना ही अपनी डाइट में शामिल करें।

NDTV Food Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं ताजा फूड खबरें , चटपटे जायके, हेल्थ टिप्स, ब्यूटी के कारगर नुस्खे और टिप्स और फूड एंड ड्रिंक से जुड़ी खबरें भी.

Advertisement
ताजा लेख
Advertisement