सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है प्रोटीन पाउडर, हो सकते हैं साइड इफेक्ट...

प्रोटीन पाउडर से ज्यादा मात्रा में प्रोटीन ही मिलता है जो ज्यादा डेन्स होता है और उसे पीने से पोषण का असंतुलन हो सकता है. 

एनडीटीवी  |  Updated: June 26, 2018 13:47 IST

Reddit
health tips: side effect of protein powder in hindi
Highlights
  • प्रोटीन पाउडर दूध, छाछ, कैसिइन और सोया से बना एक सूखा पाउडर होता है.
  • वे प्रोटीन सबसे कॉमन प्रोटीन है जो सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है.
  • ग्लोबुलर शरीर को फायदा देने से ज्यादा नुकसान पहुंचाते हैं.
प्रोटीन पाउडर दूध, छाछ, कैसिइन और सोया से बना एक सूखा पाउडर होता है. अब तो मटर से भी प्रोटीन बनाया जा रहा है. अक्सर जब लोग खाने से जरूरी प्रोटीन नहीं ले पाते हैं, तो प्रोटीन पाउडर का इस्‍तेमाल करते हैं. वे प्रोटीन सबसे कॉमन प्रोटीन है जो सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है. इसी प्रोटीन को ज्यादातर जिम गोअर्स और बोड़ी बिल्डर लेते हैं. इसमें ग्लोबुलर प्रोटीन होता है जिसे लिक्विड सामग्री से तैयार किया जाता है. यह लिक्विड मटिरियल चीज प्रोडक्स के बायोप्रोडक्ट से तैयार किए जाते हैं. यह ग्लोबुलर शरीर को फायदा देने से ज्यादा नुकसान पहुंचाते हैं. 

जिम में जाने वाले युवा आजकल काफी मात्रा में प्रोटीन लेते हैं. यह सही भी है, क्योंकि जब आप जिम जाते हैं और उन वर्कआउट्स पर काम करते हैं, जो मसल्स बनाने का काम करते हैं तो शरीर को मसल्स बिल्ड करने के लिए प्रोटीन देना भी जरूरी है. इसके लिए लोग अक्सर सप्लिमेंट का सहारा लेते हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं कि आप जिस प्रोटीन पाउडर को हेल्दी सोचकर ले रहे हैं वह आपकी सेहत को नुकसान भी पहुंचा सकता है.

 
protein powder
 


1. कर सकते हैं मुंहासे
वे प्रोटीन जैसे पाउडर्स में कई तरह के हारमोंस और बायोएक्टिव पेपटिड्स होते हैं. जो सीबम निर्माण को बढ़ा देते हैं. अध्ययनों से यह बात पता चली है कि प्रोटीन सप्लिमेंट लेने से मुंहासों की समस्या बढ़ सकती है. 
 
acne
पोषण का असंतुलन ( Unbalanced nutrient composition) 
प्रोटीन पाउडर लेने से शरीर में न्यूट्रिशन का असंतुलन हो सकता है. प्राकृतिक प्रोटीन जैसे अंडे, दूध और मीट लेने से ऐसा होने की संभावना कम होती है. प्रोटीन पाउडर से ज्यादा मात्रा में प्रोटीन ही मिलता है जो ज्यादा डेन्स होता है और उसे पीने से पोषण का असंतुलन हो सकता है. 

 
protein powder

आंत माइक्रोबायोटा होता है अस्थिर
वे मिल्क ऐसा दूध है जो कुछ कंपाउंड्स का स्रोत होता है. लेक्टोफेरिन जैसे एंटिबायोटिक कंपाउंड के चलते वयस्क आंत  में समस्या (adult gut flora) होने की संभावना बढ़ जाती है. इससे पेट खराब रह सकता है और इससे गैस या अपच की समस्याएं पैदा हो सकती हैं.
 
upset stomach



4. होते हैं विषाक्त (Toxic)
विशेषज्ञ बॉडी बिल्डर्स को अच्छी कंपनियों का प्रोटीन पाउडर लेने की सलाह देते हैं. कुछ कंपनियों के प्रोटीन पाउडर में काफी मात्रा में टॉक्सिक मेटेल्स् यानी विषाक्त पदार्थ होते हैं. जो शरीर के लिए नुकसानदायक हैं. इन्हें लेने से सरदर्द, फेटीग्यू, कब्ज और मासपेशियों में दर्द की शिकायत हो सकती है. 


5. बढ़ा सकते हैं इंसुलिन लेवन
कई बार प्रोटीन पाउडर लेने के ऐसे नुकसान भी हो जाते हैं जो लंबे समय में काफी बुरे साबित होते हैं. इन्हीं में से एक है इससे होने वाला इंसुलिन के स्तर में बदलाव. वर्कआउट के बाद प्रोटीन पाउडर लेने से इंसुलिन में बढ़ोतरी होती है इस तरह नियमित रूप से इंसुलिन में होने वाली यह यकायक बढ़ोतरी आगे के लिए नुकसानदायक हो सकती है. 
 
diabetes


एनडीटीवीडॉक्टर से और खबरों के लिए क्लिक करें. 

Comments(डिस्क्लेमर: यह लेख केवल जानकारी के लिए है. किसी भी तरह की सलाह के लिए अपने डॉक्टर से संपर्क जरूर करें.)


NDTV Food Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं ताजा फूड खबरें , चटपटे जायके, हेल्थ टिप्स, ब्यूटी के कारगर नुस्खे और टिप्स और फूड एंड ड्रिंक से जुड़ी खबरें भी.

Advertisement
ताजा लेख
Advertisement