नाश्ते में प्रोटीन की मात्रा ज़्यादा लेने से टीनेजर्स में कम हो सकता है वज़न

समय से न खाना,रात को टाइम पर न सोना, सुबह में देर से सोकर उठना, यह सभी चीज़ों की वज़ह से टीनेजर्स अपना नाश्ता तो क्या खाना भा समय पर नहीं ले पाते हैं.

NDTV Food Hindi  |  Updated: August 14, 2015 15:02 IST

Reddit
High-Protein Breakfast Helps Overweight Teenagers Lose Weight in Hindi

छोटे बच्चे या टीनेजर्स हमेशा डेरी उत्पाद जैसे दूध, दही, मीट या अंडा खाने से दूर भागते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि अध्ययन के मुताबिक, नाश्ते में इस प्रोटीन निर्मित आहार को लेने से अधिक वज़नदार टीनेजर्स अपना वज़न कम कर सकते हैं। शोधकर्ताओं ने उन वज़नदार टीनेजर्स के साधारण प्रोटीन वाले नाश्ते और ज़्यादा प्रोटीन वाले नाश्ते के फायदों की तुलना की, जो अक्सर अपना नाश्ता करने से चूकते हैं।

अध्ययन के मुख्य लेखक, हिदर लीडी, असिसटेंट प्रोफेसर, यूनिवर्सिटी ऑफ मीसूरी, यू.एस. का कहना है कि “हमने इस अध्ययन से यह जानने की कोशिश की कि जो लोग सुबह को नाश्ता करने से चूकते हैं, उन्हें अगर नाश्ता करने को दिया जाए, तो क्या उनके वज़न पर प्रभाव पड़ेगा या नहीं”?

 

ताजा लेख-

Diabetes: ये 3 ड्राई फ्रूट करेंगे ब्लड शुगर लेवल को नेचुरली कंट्रोल

Get Fair Skin: दो हफ्तों में निखरेगा त्वचा का रंग, ये 4 चीजें आएंगी काम, आसान घरेलू नुस्खे...



Benefits of Cloves: लौंग के फायदे, ये 5 परेशानियां होंगी दूर



क्या आप टाइम पर करते हैं ब्रेकफास्‍ट, लंच और डिनर, क्या हैं इन्हें करने का सही समय?



हुमा कुरैशी को बेहद पसंद हैं कबाब, यहां पढ़ें सीख कबाब की रेसिपी



इस अध्ययन से पता चला कि नाश्ते में 35 ग्राम प्रोटीन लेने से भूख लगना, खाना खाने की इच्छा और शरीर में उत्पन्न हो रहे फैट को रोका जा सकता है। साथ ही ग्लूकोज़ लेवल पर नियंत्रण रखा जा सकता है।  
   
लीडी ने बताया कि 35 ग्राम प्रोटीन की मात्रा लेने का मतलब, दूध, ग्रीक दही, अंडा और मीट को मिलाकर उच्च क्वॉलिटी की सामग्री को अपने आहार में शामिल करना है।

अध्ययन करने के लिए शोधकर्ताओं ने वज़नदार टीनेजर्स को दो ग्रुप में बांटा। एक जो टीनेजर्स अपना साधारण या ज़्यादा प्रोटीन वाला नाश्ता हफ्ते में पांच बार खाने से चूकते हैं और दूसरा जो टीनेजर्स अपना नाश्ता हफ्ते में सात बार खाने से चूकते हैं। तीसरा ग्रुप जिसने अपना नाश्ता 12 हफ्तों तक नहीं खाया।

साधारण प्रोटीन वाला नाश्ता, जिसमें दूध और सीरियल शामिल हैं, उसमें 13 ग्राम प्रोटीन होता है। वहीं, ज़्यादा प्रोटीन वाले नाश्ते में 35 ग्राम प्रोटीन होता है।

 

 

डायबिटीज टिप्स और नुस्खों के लिए ये भी पढ़ें - More Diabetes Tips and Remedy

Diabetes: ये तीन चीजें करेंगी ब्लड शुगर लेवल को कम, यहां है आयुर्वेदिक नुस्खे...



Eggs For Diabetes: क्‍या डायबिटीज रोगी खा सकते हैं अंडे? यहां है जवाब













लीडी ने बताया कि “जिस टीनेजर्स के ग्रुप ने ज़्यादा प्रोटीन वाला नाश्ता किया, उन्होंने रोज़ के खाने में 400 कैलोरी कम ली। साथ ही शरीर से वज़न भी कम किया। वहीं, दूसरी ओर, जिस ग्रुप ने साधारण प्रोटीन वाला नाश्ता किया या फिर कई बार करने से छोड़ा, उनका वज़न बड़ा हुआ पाया गया”।

उन्होंने आगे बताते हुए कहा कि “इसका मतलब नाश्ते में ज़्यादा प्रोटीन की मात्रा लेने वाले लोग, एक, तो पूरा दिन कम खाना खाते हैं और दूसरा, बाकी के ग्रुप से उनका ग्लूकोज़ लेवल भी काबू में रहता है”।

Commentsग्लूकोज़ लेवल में भारी मात्रा में बदलाव होने का मतलब है, युवाओं में टाइप-2 डायबिटीज़ की परेशानी का उत्पन्न होना, जिससे स्वास्थ्य संबंधित समस्या के साथ शरीर में वज़न बढ़ने की परेशानी भी हो सकती है। ऐसी खोज इंटरनैशनल जरनल ऑफ ओबेसिटी में प्रकाशित हुई है।

 

और खबरों के लिए क्लिक करें.



NDTV Food Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं ताजा फूड खबरें , चटपटे जायके, हेल्थ टिप्स, ब्यूटी के कारगर नुस्खे और टिप्स और फूड एंड ड्रिंक से जुड़ी खबरें भी.

Advertisement
ताजा लेख
Advertisement