डाइट में घुलनशील फाइबर शामिल कर, घटाएं वज़न

 , Edited By Shilpa Jain  |  Updated: November 03, 2015 10:50 IST

Reddit
How to Fight Weight: Load Up on Soluble Dietary Fiber
लंबे समय से विशेषज्ञों द्वारा बताया जा रहा है कि हेल्दी डाइट के लिए फाइबर अच्छा स्रोत है और कई तरह के स्वास्थ्य लाभ के लिए हमें अपनी डाइट में इसकी मात्रा बढ़ानी चाहिए। फाइबर सिर्फ पौधों में पाया जाता है, इसका मतलब यह है कि खूब सारी सब्जियां, फल और साबूत अनाज आपकी मदद कर सकते हैं। खाने वाला फाइबर दो तरह का होता है। पानी में घुलने वाला और पानी में न घुलने वाला, ये दोनों फाइबर ही शरीर के फिट रखने में सहयोग करते हैं।

घुलनशील फाइबर वे तत्व होते हैं, जो आसानी से पानी में घुल जाते हैं। जैसे ही वे पाचन तंत्र से गुजरते हैं, वे फर्मेंटड (खमीरीकृत) हो जाते हैं और उत्पादों में टूट जाते हैं, जो ब्लड शुगर, ब्लड प्रेशर, हार्ट हेल्थ और वजन को नियंत्रित रखने में योगदान देते हैं। वज़न घटाने के लिए अक्सर डाइटरी फाइबर को डाइट में शामिल करने की सलाह दी जाती है, क्योंकि ये पेट लंबे समय तक भरे रखती है और भूख नहीं लगने देते।जॉर्जिया स्टेट यूनिवर्सिटी द्वारा की गई नई रिसर्च से पता लगा है कि डाइट में अगर घुलनशील फाइबर न शामिल हो तो उससे आंतों में सूजन, आंत का अस्वस्थ होना और वज़न बढ़ना आदि समस्याएं होने लगती हैं। यही नहीं, चूहों में किए गए शोध से पता लगा है कि अगर घुलनशील फाइबर को डाइट में शामिल कर लिया जाए, तो खराब आंत को स्वस्थ किया जा सकता है। घुलनशील फाइबर से भरपूर फूड में ओटमील, नट्स, बीन्स, सेब, ब्लूबेरिज़, चिआ, जौ, सोयबीन, मयर, ब्रॉक्ली, जड़ वाली सब्जियां और इसी तरह की कई चीजें आती हैं।

शोधकर्ताओं का कहना है कि, अगर हमारे द्वारा साबित किया गया निरीक्षण, मुनष्यों पर लागू होता है, तो यह सलाह दी जाती है कि मेटाबॉलिक रोग जैसी महामारी से मुकाबला करने के लिए उच्च घुलनशील फाइबर सामग्री को खाद्य पदार्थों में शामिल किया जाए।

उन्होंने चूहों पर डाइट में शामिल घुलनशील और अघुलनशील फाइबर, प्रोटीन और फैट की अलग-अलग मात्रा का आंतों की बनावट, फैट जमा होना और वजन बढ़ना आदि प्रभावों की जांच की। उन्होंने पाया कि डाइट में घुलनशील फाइबर शामिल होने वाले चूहों के मुबाकले, डाइट में घुलनशील फाइबर न होने वाले चूहों का वज़न और फैट बढ़ गया। घुलनशील फाइबर की कमी वाले चूहे की आंत- छोटी और दीवार पतली थी। डाइट शुरू करने के दो दिन बाद यह स्ट्रक्चरल (सरंचनात्मक) बदलाव देखे गए।

शोधकर्ताओं ने कहा कि डेटा, घुलनशील और अघुलनशील डाइटरी फाइबर के बीच स्वास्थ्य लाभ में फर्क बताता है। यह अध्ययन अमेरिकन जरनल ऑफ फिज़ियोलॉजी में प्रकाशित हुई थी।

Comments(आईएएनएस से इनपुट्स)
 

NDTV Food Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं ताजा फूड खबरें , चटपटे जायके, हेल्थ टिप्स, ब्यूटी के कारगर नुस्खे और टिप्स और फूड एंड ड्रिंक से जुड़ी खबरें भी.

Advertisement
ताजा लेख
Advertisement