Sawan 2019: सावन में खांसी, जुकाम और बुखार ठीक करेगा यह नुस्खा, बढ़ाएगा इम्‍यूनिटी

सावन 2019 शुरू होने वाला है. हिंदू कैलेंडर के अनुसार सांवन का महीने 17 जुलाई से शुरू होगा. वहीं लोग मानसून का इंतजार कर रहे हैं. लेकिन मानूसन के साथ ही मौसम में नमी पैदा होने लगी है. बरसात के मौसम के दौरान, इंफेक्‍शन, कोल्‍ड और बुखार होना आम हो जाता है.

एनडीटीवी  |  Updated: August 01, 2019 15:21 IST

Reddit
Sawan 2019: Kadha to Fight Infections With Natural Ingredients This Rainy Season | Sawan 2019 Health Tips in Hindi | Sawan kab se shuru ho raha hai

Sawan 2019: अगर आप भी यही सोच रहे हैं कि मानसून (Monsoon 2019) कब आएगा और मानसून 2019 का आगमन करने के लिए उतावले हैं, तो इसमें मौसम विभाग से अपडेट लेते रहें. हां, हम आपको यह बता सकते हैं कि सावन कब से शुरू हो रहा है सावन 2019 में आप किस तरह खुद को सेहतमंद बना कर रख सकते हैं. इसके लिए जरूरी है कि आप अपनी रसोई का रुख करें. जी हां, सेहतमंद बने रहने के लिए या सावन के मौसम में होने वाले रोगों से बचने के लिए आपको किसी डॉक्टर से दवाएं लेने की शायद जरूरत ही न पड़े अगर आप रसोई में मौजूद इन चीजों का सही इस्तेमाल कर लें. सावन 2019 में रोगों से बचाने के काम आएंगे यह घरेलू नुस्खे (Home Remedies) . बरसात के मौसम के दौरान, इंफेक्‍शन, कोल्‍ड और बुखार होना आम हो जाता है, इसका कारण है आपकी कमजोर इम्‍यूनिटी.

Weight Loss: मॉनसून में कई किलो कम होगा वजन अगर खाएंगे जामुन



भारतीय परिवारों की रसोई में विभिन्न मसालें और जड़ी-बूटियों मौजूद होती है जिनका उपयोग रोजमर्रा के खाना बनाने में किया जाता है. इन्‍हीं मसालों का इस्‍तेमाल काढ़ा बनाने के लिए भी किया जाता है. ये जड़ी-बूटियां हमारे शरीर को संक्रमण से लड़ने और स्वस्थ रखने में सक्षम बनाती हैं. काढ़ा एक हर्बल पेय है, जिसे पानी में कई जड़ी-बूटी और मसाले उबलकर तैयार किया जाता है. जड़ी बूटियों का चयन आपकी बीमारी पर निर्भर करता है. काढ़े का स्वाद वास्तव में किसी को पसंद नहीं आता. लेकिन ये दवाई से ज्‍यादा असर करता है. 



क्यों मॉनसून में शरीर को चाहिए 'गुड बैक्टीरिया' ? इन 5 फूड से पाचन रहेगा बेहतर





निरोग स्ट्रीट के आयुर्वेदिक विशेषज्ञ डॉ. राम एन कुमार के अनुसार, मानसून वह मौसम है जिसमें कई तरह के इंफेक्‍शन होने का खतरा रहता है. आयुर्वेद और इसके विशेष ऋतुचार्य के दिशानिर्देश हमें मौसम में होने वाले बदलावों में स्वस्थ रहने में मदद कर सकते हैं. बारिश के मौसम में जहां डेंगू और स्वाइन फ्लू जैसी घातक बीमारियां आसानी से फैलती हैं, काढ़ा (विशेष जड़ीबूटी से तैयार आयुर्वेदिक पेय) कई स्वास्थ्य समस्याओं को दूर रखने में आपकी मदद कर सकता है. काढ़ा इलायची, लौंग, जीरा, अदरक, तुलसी, शहद और गुड़ जैसे रसोई में मौजूद खाद्य पदार्थों से तैयार किया जाता है. यहां डॉ. कुमार द्वारा सुझाए गए दो मानसून स्‍पेशल काढ़े बताए गए हैं, जो आपको हेल्‍दी रखने में काफी मदद कर सकते हैं.   

herbal water

Sawan 2019: सावन के महीने में सेहत का ध्यान रखना बहुत जरूरी है. 

  • गिलोय का काढ़ा: यह एक हर्बल पेय है, जिसे गिलोय की मदद से बनाया जाता है. यह हर तरह के बुखार को रोकने में मदद करता है. गिलोय का काढ़ा इम्‍यूनिटी को बढ़ावा देता है और प्लेटलेट को भी बढ़ाने में मदद करता है.
  • तुलसी-गिलोय का काढ़ा: तुलसी और गिलोय बुखार और ठंड लगने से बचने के लिए इम्‍यूनिटी को बढ़ावा देने का विशेष आयुर्वेदिक नुस्‍खा है. अगर आपको लगातार बुखार हो रहा है तो भी ये काढ़ा आपकी काफी मदद कर सकता है. 
herbs

ये है तुलसी और काली मिर्च के काढ़े की रेसिपी

सामग्री:

  • 2 कप पानी
  • 1 चम्मच चीनी
  • 1 चम्मच काली मिर्च, कटी हुई 
  • 1 छोटा चम्मच बारीक कटा हुआ अदरक
  • 1 चम्मच देसी घी
  • एक से दो लौंग
  • तुलसी की कुछ पत्तियां



Dear Food Lovers: क्या आपको पता है फाफड़ा और खाखरा का फर्क? जानिए यहां...



विधि:

  • घीं गर्म करें. इसमें लौंग, काली मिर्च, अदरक और तुलसी मिला दें.
  • अब इसमें पानी और चीनी मिला दें.
  • 15-20 मिनट तक इस काढ़े को मध्‍यम आंच पर पकाएं. इसे बीच-बीच में चलाना न भूलें.
  • अब इसमें तुलसी के कुछ पत्ते डालकर 2 मिनट तक और पकाएं.
  • अब इस काढ़े को दिन में 2 बार पीएं.
herbs

काश्‍या काढ़ा
काश्या एक आयुर्वेदिक पेय है. यह मानसून के दौरान साइनस की समस्‍या में मदद करता है. इसके एंटी-बैक्टीरियल गुण इम्‍यूनिटी को बढ़ावा देते हैं. 



सामग्री:

  • भुने हुए धनिये के बीज
  • जीरा के बीज
  • सौंफ के बीज
  • काली मिर्च के दाने

विधि:
भुने हुए धनिये के बीज, जीरे के बीज और सौंफ़ के बीज में काली मिर्च के बीज मिला लें. अब इसका पावडर बना लें. काढ़ा बनाने के लिए एक कप पानी उबाल लें. अब इसमें तैयार पाउडर डालकर उबाल लें. इसके बाद इसमें थोड़ा-सा गुड़ और काश्या पावडर मिला लें. अब इसे छानकर पी लें.



Comments

और खबरों के लिए क्लिक करें



NDTV Food Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं ताजा फूड खबरें , चटपटे जायके, हेल्थ टिप्स, ब्यूटी के कारगर नुस्खे और टिप्स और फूड एंड ड्रिंक से जुड़ी खबरें भी.

Related Recipe

Advertisement
ताजा लेख
Advertisement