बारिश के समय यूं रखें आंखों का ख्याल

शिल्पा जैन द्वारा संपादित  |  Updated: October 10, 2016 13:21 IST

Reddit
keep your eye clean during rain
बारिश का सुहाना मौसम जहां एक ओर गर्मी से राहत दिलाता है, वहीं अपने साथ ढेरों बीमारियां भी लाता है। खांसी-जुखाम से लेकर न जाने कितने तरह के इंफेक्शन से लोग जुझते दिखाई देते हैं। बारीश के ऐसे मौसम में ही आंखों में इंफेक्शन होने का खतरा कई गुणा ज्यादा बढ़ जाता है। हाल ही में मैंने कितने लोगों की इस समस्या से परेशान होते देखा है। यहां तक की मेरे परिवार में भी यह समस्या घर कर चुकी है। आंखों में खुजली और लाल हो जाना इसके नार्म लक्षण हैं।

कीचड़ युक्त सड़कों से फंगल इंफेक्शन यानी फफूंदीय संक्रमण भी फैलता है। विशेषज्ञों का कहना है कि ऐसे मौसम में लोगों को अपनी आंखों का खास ध्यान रखना चाहिए। बारिश के साथ आखों की समस्याएं बढ़ जाती हैं, जैसे नेत्र संक्रमण, कार्निया अल्सर, कंजक्टिवाइटिस आदि की समस्या एक आम समस्या बन गई है। आईटेक विजन सेंटर की ऑप्थैमोलॉजिस्ट डॉ. अंशिमा सिंह का कहना है कि इस मौसम में आंखों का संक्रमण एक सामान्य समस्या है। 10 में से 6 लोग आंखों की समस्या लेकर आते हैं। लोगों को इस मामले में सतर्क रहने की जरूरत है। सही तरीके से देखभाल की जाए तो इस समस्या से बचा जा सकता है। यूं बरतें सावधानी
उन्होंने बताया कि जब भी आंखों में किसी तरह का संक्रमण हो तो उनको रगड़ें नहीं। बारिशों में आपके हाथों में कई तरह के रोगाणु चिपके होते हैं, जो न चाहते हुए भी आंखों में चले जाते हैं। इसके कारण आंखों में इंफेक्शन हो जाता है। आंखों की देखभाल तब शुरू होती है, जब आप नियमित रूप से आंखों को धोते हैं, इससे आंखें साफ और सुरक्षित रहती हैं।

बारिश से पहले आने वाली धूल-मिट्टी के साथ दूसरे प्रदूषित कण भी आते हैं, जो आंखों में चले जाते हैं। आखों को धोना ही इनसे बचाने का सबसे बेहतर तरीका है। अगर इसके बाद भी खुजली हो तो चिकित्सक से संपर्क करें।

उन्होंने बताया कि आंखों पर अधिक दबाव बनाए जाने से इंफेक्शन होने की संभावना बढ़ जाती है। अगर आप घंटों कंप्यूटर पर काम करते हैं तो इससे आंखों पर दबाव पड़ना स्वाभाविक है। पलकों को न झपकाने और सफाई न करने से भी संक्रमण होता है। साथ ही कुछ चीजें जैसे तौलिया, आंखों का मेकअप, लेंस, शेड्स आदि को दूसरे लोगों के साथ बिल्कुल भी शेयर न करें।

इसलिए जब भी आंखों में खुजली का एहसास हो, तुरंत आखों को धो लें, इसके बाद विशेषज्ञ से सलाह जरूर लें। धूल के कण बहुत छोटे होते हैं जो आपकी आंखों को नुकसान पहुंचाते हैं।

(इनपुट्स आईएएनएस से)

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com





Comments(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

NDTV Food Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं ताजा फूड खबरें , चटपटे जायके, हेल्थ टिप्स, ब्यूटी के कारगर नुस्खे और टिप्स और फूड एंड ड्रिंक से जुड़ी खबरें भी.

Advertisement
ताजा लेख
Advertisement