Monsoon Care: इस बरसात में पेट को आराम देने के लिए ट्राई करें खिचड़ी

मानसून के दौरान हमारी इम्‍यूनिटी कमजोर हो जाती है. जानिए सावन के मौसम में कैसे आप अपने आहार में बदलाव कर सेहतमंद बने रह सकते हैं. मानसून में डाइट टिप्स यहां पढ़ें.

एनडीटीवी फूड  |  Updated: July 10, 2019 16:30 IST

Reddit
Monsoon Care: Eat Khichdi To Soothe Tummy in this Rainy Season | monsoon me kya khana chahiye

आयुर्वेद खिचड़ी को तीनों दोषों को संतुलित करने के लिए एक उच्‍चतम भोजन मानता है.

खिचड़ी भारत में आसानी से बनने वाले खाद्य पदार्थों का प्रतीक है. यह ऐसी डिटॉक्स डाइट है, जिसमें मूंग दाल और चावल के अलावा कुछ और नहीं होता, लेकिन ये पेट को काफी आराम देती है. मानसून के दौरान हमारी इम्‍यूनिटी कमजोर हो जाती है. खाद्य विषाक्तता, संक्रमण, इरिटेबल बाउल सिंड्रोम और डायरिया.... बरसात के मौसम के दौरान आप ऐसी समस्याओं से अधिक प्रभावित होते है. मैक्रोबायोटिक न्यूट्रिशन और हेल्थ कोच शिल्पा अरोड़ा के मुताबिक, खिचड़ी पाचन तंत्र के लिए अत्यधिक स्वास्थ्यप्रद और आंत को आराम देती है. देसी घी के तड़के के साथ बनी मूंग की दाल और चावल में मिलकर बनी खिचड़ी सभी मैक्रोन्यूट्रिएंट्स के साथ एक हेल्‍दी डाइट है. घी और फाइबर चावल के हाई ग्लाइसेमिक को कंट्रोल करने में मदद करते हैं. आयुर्वेद खिचड़ी को तीनों दोषों को संतुलित करने के लिए एक उच्‍चतम भोजन मानता है. इसको टेस्‍टी और मजेदार बनाने के लिए आप इसमें गाजर और टमाटर भी डाल सकते हैं.



khichdi 625



जानिए खिचड़ी खाने से हेल्‍थ को होते हैं क्‍या फायदे:

  • मूंग की दाल की खिचड़ी काफी हल्‍की होती है. आयुर्वेद में इसे परना दाल के नाम से जाना जाता है. 
  • खिचड़ी में हल्दी मिलाने से यह एंटीसेप्टिक का काम करती है. एक चुटकी हल्दी को ज्यादातर स्वास्थ्य समस्याओं के लिए फायदेमंद कहा जाता है.
  • मूंग की दाल में प्रोटीन प्रचुर मात्रा में पाया जाता है और यह पेट के लिए काफी हल्‍की होती है.
  • दही के साथ मूंग की दाल की खिचड़ी खाने से यह आसानी से डाइजेस्‍ट हो जाती है. 
  • खिचड़ी पौष्टिक भोजन है. मूंग की दाल में फाइबर, विटामिन सी, कैल्शियम, मैग्नीशियम, पोटेशियम और फास्फोरस पाया जाता है. 
cu0oim7

इस मानसून तला-भुना छोड़, खाएं ये 10 हेल्दी स्नैक्स 

आइए आपको बताते हैं मूंग की दाल की खिचड़ी बनाने की मजेदार रेसिपी:

सामग्री:

  • 1/2 कप मूंग की दाल छिल्‍के वाली
  • 2 टेबल स्‍पून घी
  • 2 टी स्‍पून जीरा
  • एक चुटकी हींग
  • 2 टी स्‍पून नमक



विधि:

  • दाल और चावल को मिक्‍स करके आधे घंटे के लिए भिगोकर रख दें.
  • अब दाल और चावल में से पानी निकालकर दूसरे पैन में घी गर्म करें. अब इसमें जीरा और हींग डालें.
  • जब जीरा भुन जाए, तो इसमें चावल और दाल मिला दें. अब इसे तेज आंच पर पकने दें.
  • अब इसमें नमक मिलाएं और इसे अच्‍छे से मिक्‍स करें. अब इसमें दो कप पानी मिलाएं और इसे उबलने दें. 
  • अब गैस कम करें और 10 मिनट तक इसे पकने दें.
  • तो क्‍यों ने अपने पेट को फ्राईड और फास्‍ट फूड से राहत देते हुए इस बार पौष्टिक खिचड़ी का आनंद लिया जाए.

और खबरों के लिए क्लिक करें.

Comments

NDTV Food Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं ताजा फूड खबरें , चटपटे जायके, हेल्थ टिप्स, ब्यूटी के कारगर नुस्खे और टिप्स और फूड एंड ड्रिंक से जुड़ी खबरें भी.

Advertisement
ताजा लेख
Advertisement