घाव भरने में मदद करेगा पुदीने का तेल और दालचीनी : अध्ययन

वैज्ञानिकों नें हाल ही में पुदीने और दालचीनी से एंटी-माइक्रोबीअल यौगिक बनाने का रास्ता ढूंढ निकाला है.

  |  Updated: July 15, 2015 13:20 IST

Reddit
Peppermint Oil and Cinnamon May Help in Healing Wounds: Study in Hindi

वैज्ञानिकों नें हाल ही में पुदीने और दालचीनी से एंटी-माइक्रोबीअल ( बीमारी बढ़ाने वाले सूक्ष्मजीवों को खत्म करने में सहायक) यौगिक बनाने का रास्ता ढूंढ निकाला है, जिसे एक छोटे कैप्सूल के रूप में बनाया जाएगा। यह कैप्सूल बैक्टीरिया और पुराने घावों को ठीक करने में मदद करेगा।

बैक्टीरिया के संक्रामक क्षेत्रों को बायोफिल्म कहा जाता है, जो कि पुराने घावों में पैदा होते हैं और चिकित्सीय उपकरणों की वजह से गंभीर स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं, जिनका इलाज करना कठिन होता है। द जरनल एसीएस नैनो में प्रकाशित खबर के अनुसार, नई सामग्री का इस्तेमाल एक स्थानीय एंटी-बैक्टीरियल (बैक्टीरिया के खिलाफ काम करने वाले) उपचार और कीटाणुनाशक के रूप में किया जा सकता है।

Newsbeep

Remedies For Headache: सिरदर्द को एक मिनट में दूर कर देंगे ये 7 घरेलू नुस्खे



Health Benefits of Radish: मूली खाने के 8 फायदे, बीमारियां होंगी दूर, चेहरे पर आएगा ग्लो



Thyroid Remedies: ये 5 चीजें करेंगी थाइराइड को दूर, आज ही आजमाएं



टालना चाहती हैं पीरियड्स, तो अपनाएं ये 5 घरेलू नुस्‍खे



Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

इन 4 चीजों से पल में हवा होगी एसिडिटी, यहां हैं घरेलू नुस्खे...



कई बैक्टीरिया चिपचिपे रूप में एक साथ जुड़ जाते हैं, जिन्हें पारंपरिक एंटी-बायोटिक्स दवाओं से निकालना मुश्किल हो जाता है। डॉक्टर कई बार संक्रामक टिशू को काटने की सलाह देते हैं। हालांकि, यह काफी महंगा पड़ता है, फिर भी कई रोगी इस समस्या से बाहर आने के लिए पूर्ण रूप से यही रास्ता चुनते हैं, क्योंकि यह काफी तेजी से फैलता है।

Commentsहाल ही में जरूरी तेल और दूसरे प्राकृतिक यौगिक वैकल्पिक पदार्थ के रूप में उभर कर सामने आए हैं, जो कि रोगजनक बैक्टीरिया (रोग पैदा करने वाले जीवाणु) से छुटकारा दिलाने में मदद करते हैं। लेकिन शोधकर्ता एंटी-बैक्टीरियल गतिविधीयों को उपचार में बदलने में असमर्थ हैं।

 

दिल की बीमारियों का खतरा दोगुना कर सकता है HIV Infection

Low Sperm Count के बावजूद घर में यूं गूंज सकती है बच्चे की किलकारी

शोधकर्ताओं ने पुदीने का तेल और सिनेमलडेहाइड से एक पैक बनाया है- इसके फ्लेवर और खुशबू के लिए दालचीनी का इस्तेमाल किया गया है- सिलिका नैनोकणों में। इन माइक्रो कैप्सूल का प्रभाव चार तरह के बैक्टीरिया पर पड़ेगा, जिनमें से एक एंटी-बायोटिक प्रतिरोधी तनाव है। साथ ही, यह फाइब्रोबलास्ट की वृद्धि को भी बढ़ावा देता है, एक प्रकार के सेल, जो घाव भरने में मदद करते हैं।

 

और खबरों के लिए क्लिक करें.
 



NDTV Food Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं ताजा फूड खबरें , चटपटे जायके, हेल्थ टिप्स, ब्यूटी के कारगर नुस्खे और टिप्स और फूड एंड ड्रिंक से जुड़ी खबरें भी.
Tags:  Capsul

Advertisement
ताजा लेख
Advertisement