गर्भावस्था के दौरान प्लास्टिक रसायनों से होता है खतरा, रहें दूर

गर्भवती महिलाएं प्लास्टिक रसायनों के संपर्क में न आएं, क्योंकि इससे गर्भावस्था व स्तनपान के दौरान बच्चों में अस्थमा का खतरा बढ़ सकता है. इन रसायनों को थलेट्स के नाम से जानते हैं.

इंडो-एशियन न्यूज़ सर्विस की रिपोर्ट, सुमित राय द्वारा संपादित  |  Updated: May 07, 2017 11:40 IST

Reddit
plastic chemical during pregnancy may up asthma risk in kids
गर्भवती महिलाएं प्लास्टिक रसायनों के संपर्क में न आएं, क्योंकि इससे गर्भावस्था व स्तनपान के दौरान बच्चों में अस्थमा का खतरा बढ़ सकता है. इन रसायनों को थलेट्स के नाम से जानते हैं. यह हमारे शरीर में त्वचा, खाद्य पदार्थो या श्वसन के जरिए पहुंच सकते हैं और हमारी हार्मोन प्रणाली पर प्रभाव डाल सकते हैं. इनका हमारे उपापचय या प्रजनन पर भी प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है.

जर्मनी के हेलम्होट्ज विश्वविद्यालय के पर्यावरणीय इम्यूनोलॉजिस्ट टोबाइस पोलते ने कहा कि हमारे शोध के नतीजे बताते हैं कि थलेट्स हमारे प्रतिरोधक प्रणाली में दखल देते हैं और एलर्जी पैदा होने के खतरे को खास तौर पर बढ़ा देते हैं.
शोध के लिए दल ने गर्भवती महिलाओं के मूत्र की जांच की और नवजात पर एलर्जी के प्रभाव को भी देखा गया.  इस शोध का प्रकाशन पत्रिका 'एलर्जी एंड क्लीनिकल इम्यूनोलॉजी' में किया गया है. Commentsहेलम्होल्ट्ज केंद्र के पर्यावरणीय शोध के इरिना लेहमन ने कहा कि मां के मूत्र में बेंजिलब्यूटिलथलेट (बीबीपी) के मेटाबोलाइट में उच्च मात्रा और उनके बच्चों में एलर्जी अस्थमा की मौजूदगी के बीच सीधा संबंध पाया गया. (एजेंसियो से इनपुट)

NDTV Food Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं ताजा फूड खबरें , चटपटे जायके, हेल्थ टिप्स, ब्यूटी के कारगर नुस्खे और टिप्स और फूड एंड ड्रिंक से जुड़ी खबरें भी.

Advertisement
ताजा लेख
Advertisement