Methi Ka Ladoo For Diabetes: सर्दियों की यह मिठाई करेगी ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल, जानें कैसे...

पढ़ें | Read In

   |  Updated: December 14, 2018 13:02 IST

Reddit
Methi Ka Ladoo For Diabetes: This Healthy Winter Sweet May Help Regulate Blood Sugar Levels

Fenugreek or Methi Ka Ladoo For Diabetes: मधुमेह या डायबिटीज (Diabetes) मेटाबोलिक बीमारियों का एक समूह है, जिसमें खून में ग्लूकोज या ब्लड शुगर (Blood sugar level) का स्तर सामान्य से अधिक हो जाता है. ऐसा तब होता है, जब शरीर में इंसुलिन (Insulin) ठीक से न बने या शरीर की कोशिकाएं इंसुलिन (Insulin) के लिए ठीक से प्रतिक्रिया न दें. जिन मरीजों का ब्लड शुगर (Blood Sugar Level) सामान्य से अधिक होता है वे अक्सर पॉलीयूरिया (बार बार पेशाब आना) से परेशान रहते हैं. उन्हें प्यास (पॉलीडिप्सिया) और भूख (पॉलिफेजिया) ज्यादा लगती है. दुनिया भर में लाखों लोगों आज हाई बीपी (High BP)और हाइपरटेंशन (Hypertension) की समस्‍या का सामना कर रहे हैं. डाइट आपके ब्‍लड प्रेशर के लेवल को कंट्रोल करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है. भारत में लगभग 7.2 करोड़ मधुमेह (Diabetes)रोगी हैं, जिनके 2025 तक 13.4 करोड़ तक होने की उम्मीद है. मधुमेह वाले लोगों के लिए रक्तचाप (Blood Pressure) के आवश्यक लेवल को बनाए रखने के लिए नियमित अंतराल पर कुछ खाते रहना जरूरी है. एक स्टडी के मुताबिक रोजाना 10 ग्राम मेथीदाना का गर्म पानी पीने से टाइप-2 डायबिटीज को कंट्रोल किया जा सकता है. मेथी दाना के पानी में यह ताकत होती है कि वह ब्लड शुगर के लेवल को कम कर सके. इसमें काफी मात्रा में फाइबर होता है जो पाचन क्रिया को तेज करता है. इसके साथ ही यह शरीर द्वारा शुगर के इस्तेमाल को भी बेहतर करता है.





विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के एक अनुमान के अनुसार विश्व में हर वर्ष डायबिटीज के कारण करीब 16 लाख लोगों अपनी जान गंवाते हैं. WHO का दावा है कि 2030 तक डायबिटीज (Diabetes) दुनिया की 7वी सबसे बड़ी जानलेवा बीमारी बन जाएगी. डायबिटीज एक स्थायी रोग है जिसमें आपका ब्लड शुगर लेवल बढ़ जाता है. और अगर इसका इलाज नहीं किया गया तो ये आपके दिल, ब्लड वैस्ल्स, आंख और किडनी को हानि पहुंचा सकता है. इसकी पहचान में देरी और जागरूकता की कमी के चलते इसे काबू करना काफी मुश्किल हो जाता है. डायबिटीज से जूझ रहे लोगों को अपने खाने के प्रति अधिक सचेत रहना पड़ता है. मीठे खाद्य पदार्थ, ड्रिंक्स, ट्रांस्फैट्स से हमेशा दूरी बना के रखने में ही समझदारी होती है. एक डायबिटिक डाइट हमेशा हाईफाइबर फूड, कॉम्पलेक्स कार्ब्स और प्रोटीन का बैलेंस मिक्स होना चाहिए. ऐसे कई हर्ब्स और मसाले हैं जो आपको इस रोग से लड़ने में सहायता करते हैं. जैसे, मेथीदाना आपके बढ़े हुए शुगर लेवल को नीचे लाने में मदद करता है. 
 



fenugreek seedsमेथी खाने से शरीर का ब्लड शुगर लेवल नियत्रित रहता है

मेथी को कैसे करें खाने में इस्तेमाल - How To Use Fenugreek For Diabetes

यह जड़ी-बूटी आपको हर भारतीय रसोईघर में दिखाई देगी, लेकिन कई लोगों को इसका तेज़ और कड़वा स्वाद नहीं पसंद होता. यह सबसे ज़्यादा दाल, करी, स्टर फ्राई, चिकन डिश के अलावा परांठे में भरावन मिश्रण की तरह इस्तेमाल की जाती है. भारत में सबसे मशहूर डिश मेथी आलू है, जिसमें आलू के मीठे स्वाद में हरी मेथी के कड़वे स्वाद को डालकर पकाया जाता है.

मीट के दीवाने मैथी चिकन को बटर रोटी के साथ खाना ट्राई कर सकते हैं. गुजरात में थेपला भी काफी फेमस है, जिसे गेहूं के आटे, बेसन और मैथी की पत्तियों को मिलाकर बनाया जाता है. अक्सर लोग इसे मिर्च के आचार के साथ खाना पसंद करते हैं. मैथी की पत्ती, बाकी की सामग्री के साथ खाने के स्वाद को बराबर करने के लिए काम में लाई जाती है. आप डिश में ताज़ा और सूखी दोनों ही तरह की मेथी का इस्तेमाल कर सकते हैं.



मधुमेह या डायबिटीज में फायदेमंद हैं मेथी के लड्डू - Methi Ladoos for Diabetes in Hindi: 

स्वास्थ्य संबंधित फायदों की अगर बात की जाए तो, मेथी, कोलेस्टेरॉल पर काबू रख, दिल की बीमारियों के साथ डायबिटीज़ पर नियंत्रण रखने में मदद करती है. इसमें मौजूद फाइबर, एंटी-ऑक्सीडेंट्स, विटामिन्स और मिनरल्स, पाचन क्रिया को ठीक करती है. ऐसा कहा जाता है कि खाने में एक छोटा चम्मच मेथी के बीज़ शामिल करने से एसिड रिफल्क्स को रोका जा सकता है. मेथी खाने से शरीर का ब्लड शुगर लेवल नियत्रित रहता है और डायबिटीज से बचाव होता है. यह डायबिटीज या मधुमेह को कंट्रोल करने में मददगार है. मेथी में मौजूद गेलेक्टोमैनन नामक फाइबर, खून में शुगर के अवशोषण को कम करता है. एक स्टडी के मुताबिक रोजाना 10 ग्राम मेथीदाना का गर्म पानी पीने से टाइप-2 डायबिटीज को कंट्रोल किया जा सकता है. मेथी दाना के पानी में यह ताकत होती है कि वह ब्लड शुगर के लेवल को कम कर सके. इसमें काफी मात्रा में फाइबर होता है जो पाचन क्रिया को तेज करता है. इसके साथ ही यह शरीर द्वारा शुगर के इस्तेमाल को भी बेहतर करता है
    
वैसे तो सौंठ और मेथी लड्डू एक पार​म्परिक मिठाई है लेकिन उससे कई ज्यादा इसको औषधि के रूप में खाया जाता है, ऐसा इसलिए है क्योंकि इसे बनाते वक्त ऐसी ही सामग्री का इस्तेमाल किया जाता है. सर्दियों में इसके सेवन से बुजुर्गो और बच्चों को काफी फायदा मिलेगा. मेथी के बीज, अदरक या सौंठ, सौंफ और गुड़ से तैयार किए गए लड्डू ख़ासतौर से गर्भवती महिलाओं के लिए काफी फायदेमंद माने जाते हैं. इन लड्डूओं को सर्दियों में खाया जाता हैं. 






सौंठ और मेथी लड्डू रेसिपी (Sonth aur methi ka ladoo (Laddu) Recipe)

सामग्री

1/2 कप घी
1 कप आटा
1 टेबल स्पून मेथी
2 टी स्पून सौंफ
एक छोटा चम्मच (सूखी, पाउडर के रूप में तैयार की गई) सौंठ
¾ कप गुड़ की शक्कर


सौंठ और मेथी लड्डू बनाने की वि​धि - Methi ka ladoo (Laddu) Recipe

1. एक भारी कढ़ाही में घी डालकर पिघाल लें. फिर उसमें आटा डालें. हल्की आंच पर इसे भूनें.
2. करीब आधा घंटा आटे को भूनें. आप देखेंगे कि यह मिक्सचर हल्के भूरे रंग का हो जाएगा. आंच को बंद कर दें, मिक्सचर को ठंडा होने के लिए रख दें. अगर मिक्सचर पूरी तरह ठंडा नहीं हुआ और आपने इसमें चीनी मिला दी, तो यह मिक्सचर सूख जाएगा.
3. एक दूसरे पैन में सूखी काली मिर्च, मेथी, सौंफ डालकर भून लें और पीस लें.
4. जब आटे का मिक्सचर पूरी तरह सूख जाए, तो इसमें चीनी, पिसा हुआ मसाला और सौंठ डालकर अच्छी तरह मिक्स करें.
5. अपने हाथ से मिक्स करते हैं, जब तक यह अच्छी तरह मिल न जाए. लड्डू के रूप में इन्हें गोल-गोल बना लें.
6. आखिर में इन्हें थोड़ी देर के लिए अपनी मुट्ठी में दबाकर रखें, जब तक घी बॉडी न निकले और ऊपर की लेयर मुलायम न हो जाए.
7. लड्डू को पिस्ता और बादाम से सजाकर टाइट डिब्बे में भरकर रखें.
8. आप इन्हें चार से छह हफ्तों तक रख सकते हैं.

और खबरों के लिए क्लिक करें.

Comments

NDTV Food Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं ताजा फूड खबरें , चटपटे जायके, हेल्थ टिप्स, ब्यूटी के कारगर नुस्खे और टिप्स और फूड एंड ड्रिंक से जुड़ी खबरें भी.

Advertisement
ताजा लेख
Advertisement