स्लीप एपनिया से हो सकता है दिल को ख़तरा

खुशबू विश्नोई द्वारा संपादित  |  Updated: December 09, 2016 12:09 IST

Reddit
Sleep Apnea Can Cause You Heart Diseases in Hindi
सोते समय कई बार ऐसा होता है, जब हमारी सांस के रुक जाने के कारण हमारी नींद खुल जाती है। यह एक प्रकार की बीमारी होती है, जिसका नाम स्लीप एपनिया होता है। इस बीमारी के चलते जब व्यक्ति सो रहा होता है, तब उसकी सांस में रुकावट आने की वज़ह से नींद टूट जाती है। इससे पीड़ित व्यक्ति की एक घंटे में पांच से 30 बार सांस रुक सकती है। पांच में से एक वयस्क मध्यम स्लीप एपनिया से पीड़ित होते हैं।

यह बीमारी महिलाओं की तुलना में पुरुषों को ज़्यादा प्रभावित करती है। इसकी सबसे आम समस्या ऑबस्ट्रक्टिव स्लीप एपनिया है, जिसमें छाती के ऊपरी हिस्से और गर्दन पर वज़न पड़ने से सांस में रुकावट पैदा हो जाती है और नींद खुल जाती है।इस बारे में जानकारी देते हुए आईएमए के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. के. के. अग्रवाल ने बताया कि “समय के साथ नींद पूरी न होने की वज़ह से दिल के रोगों का ख़तरा बढ़ सकता है। थोड़े समय के लिए नींद की कमी से हाई कोलेस्ट्रोल, हाई ट्राइग्लिसेराइड्स और हाई ब्लड प्रेशर भी इसके कारण हो सकते हैं”।

उन्होंने आगे बताते हुए कहा कि “स्लीप एपनिया में ऑक्सीजन का स्तर कम हो जाता है और दिमाग तुरंत सांस लेने का संदेश भेजता है, जिससे सोते हुए व्यक्ति की नींद खुल जाती है और वह गहरी सांस लेने लगता है। इस दौरान नाड़ी तंत्र सक्रिय हो जाती है, जो गुस्से या डर के समय सक्रिय होती है। दिल की धड़कन और ब्लड प्रेशर बढ़ जाते हैं, जिससे अन्य समस्याओं के साथ दिल में जलन और ब्लड क्लॉटिंग जैसी समस्या हो सकती हैं”।

स्लीप एपनिया से इस तरह करें खुद का बचाव
हम में से कई लोग ऐसे हैं, जो पूरा दिन सुस्त महसूस करते हैं। डॉक्टर्स की अगर मानें, तो आज के लाफस्टाइल के चलते हर व्यक्ति को सुबह या शाम में कसरत करनी चाहिए। शरीर को चुस्त और दुरुस्त रखने के लिए एकक्सरसाइज़ करना बेहद ज़रूरी कार्य है। रही बात स्लीप एपनिया से बचने की, तो दिन में नियमित रूप से आधे घंटे की कसरत करना व्यक्ति के लिए महत्वपूर्ण है। लेकिन ध्यान रखें कि आपको रात में सोने से पहले कसरत नहीं करनी है। शराब का सेवन कम से कम करें। ज़्यादा शराब नींद में रुकावट बनती है। सोने से पहले कैफीन का सेवन न करें। वहीं, दूसरी ओर सोने से पहले गर्म पानी से नहाना, रौशनी कम करना और हर्बल चाय पीने आदि की आदत डालें।

(इनपुट्स आईएएनएस से)

Comments(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

NDTV Food Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं ताजा फूड खबरें , चटपटे जायके, हेल्थ टिप्स, ब्यूटी के कारगर नुस्खे और टिप्स और फूड एंड ड्रिंक से जुड़ी खबरें भी.

Advertisement
ताजा लेख
Advertisement