ऐसा खाना जो आपकी किडनी को पहुंचा सकता है नुकसान

क्या आप जानते हैं कि डेरी और सीरीयल उत्पादों में आर्टिफीशियल फॉस्फेट की मात्रा डाली जा रही है.

NDTV Food Hindi  |  Updated: July 24, 2015 20:32 IST

Reddit
The kind of food that could harm your Kidney in Hindi

क्या आप जानते हैं कि डेरी और सीरीयल उत्पादों में आर्टिफीशियल फॉस्फेट की मात्रा डाली जा रही है, जो प्राकृतिक फॉस्फेट से ज़्यादा शरीर में बल्ड फॉस्फोरस का लेवल बढ़ाता है। साथ ही यह किडनी के ऊपर भी तनाव पैदा करता है।

ऐसा हमारा नहीं, बल्कि एक अध्ययन का कहना है। फॉस्फोरस जैसा पदार्थ लाइफ में महत्वपूर्ण माना जाता है, जो डीएनए और आरएनए को बनने में मदद करता है। अध्ययन के अनुसार अगर फॉस्फेट की मात्रा सामान्य से अधिक कर दी जाए, तो यह दिल को बड़ा कर, खून की नाड़ियों को सख्त बनाता है। साथ ही हड्डियों के लिए बुरा होता है।



स्वाद ही नहीं सेहत को भी बढ़ाती है डार्क चॉकलेट...

Dhanteras 2018: कब है धनतेरस, पूजा विधि, मुहूर्त, जानें धनतेरस पर क्यों खरीदते हैं सोना




Karwa Chauth 2018: तिथि, पूजा विधि, चांद निकलने का समय, शुभ मुहूर्त और स्पेशल फूड



ह्यूस्टन मेथोडिस्ट हॉस्पिटल से डिपार्टमेंट ऑफ सर्जरी के प्रिंसिपल इंस्पेक्टर वादी सूकी का कहना था कि “जिन लोगों को किडनी में बीमारी होती है, उन्हें फॉस्फोरस की ज़्यादा मात्रा से काफी प्रभाव पड़ता है”। “अध्ययन का कहना है कि लोगों पर उनके खाने पर ध्यान देना बहुत ज़रूरी है”, ऐसा हॉस्पिटल डिपार्टमेंट ऑफ सर्जरी से लीड लेखक लिंडा मूरे का कहना था। “जो लोग स्वस्थ हैं उनके लिए फोस्फेट एक विषय है। लेकिन जिन लोगों की किडनी नष्ट हो चुकी हो या फिर गुर्दे में पुरानी बीमारी हो उनके लिए तो यह एक ख़ास विषय है”, क्लिनिकल न्यूट्रीशन मूरे का कहना था।

फॉस्फेट पर हुए अभी तक के अध्ययनों में इस बात पर गौर नहीं किया गया कि प्राकृतिक फॉस्फेट की मात्रा से उसी प्रकार का असर पड़ता है, जो खाने में आर्टिफीशियल फॉस्फेट के डालने से पड़ता है। शोधकर्ताओं ने 2003-2006 तक के मरीजों का डाटा इकट्ठा कर यह पता लगाने की कोशिश की कि लोग किस प्रकार का खाना खा रहे हैं और यह खाना उनके बल्ड फॉस्फोरस के लेवल पर किस तरह प्रभाव डाल रहा है।



Karva Chauth 2018 (Karwa Chauth): सरगी में क्या खाएं कि पूरा दिन रहें एनर्जी से भरपूर




इस त्योहारी सीजन में फिट रहने के लिए आपके काम आएंगे ये टिप्‍स‌‌‌‌‌‌...



Comments

ऐसा करने से शोधकर्ताओं को पता लगा कि जो लोग खाने में आर्टिफीशियल फॉस्फेट डले डेरी उत्पाद और सीरीयल लेना पसंद करते हैं, उनका बल्ड फॉस्फेट लेवल बढ़ जाता है। शोधकर्ताओं ने इसका नाम “इंओर्गेनिक फॉस्फोरस” रखा है। किडनी का कार्य फॉस्फेट लेवल की डिगरी के बढ़ने पर निर्भर करता है।

 

और खबरों के लिए क्लिक करें.



NDTV Food Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं ताजा फूड खबरें , चटपटे जायके, हेल्थ टिप्स, ब्यूटी के कारगर नुस्खे और टिप्स और फूड एंड ड्रिंक से जुड़ी खबरें भी.

Advertisement
ताजा लेख
Advertisement