शिवरात्रि 2019: मंगलवार को है शिवरात्रि, हल्दी, तुलसी के अलावा ये चीजें न चढ़ाएं शिव को

आज सावन शिवरात्रि है, आज का दिन भोले को मनाने का दिन है. सावन शिवरात्रि (Shivratri) के दिन मंदिरों में भारी भीड़ जमा हो जाती है और मंदिरों के बाहर भी भगवान शिव पर चढ़ाने के लिए बेलपत्र, पत्‍थर बेल वगैरह भी खूब बिकते हैं. सावन शिवरात्रि (Sawan Shivratri) का हिन्‍दू धर्म में खास महत्‍व है. सावन शिवरात्रि हर साल सावन माश्र की कृष्‍ण पक्ष चतुर्दशी को आती है.

एनडीटीवी  |  Updated: August 01, 2019 15:20 IST

Reddit
today is Sawan Shivratri 2019 : how to worship lord shiva on shivratri

Shivratri 2019: तुलसी एक ऐसा पौधा है जिसे हिंदू धर्म में पूजा के योग्य माना जाता है.

Sawan Shivratri 2019: आज सावन शिवरात्रि है, आज का दिन भोले को मनाने का दिन है. सावन शिवरात्रि (Shivratri) के दिन मंदिरों में भारी भीड़ जमा हो जाती है और मंदिरों के बाहर भी भगवान शिव पर चढ़ाने के लिए बेलपत्र, पत्‍थर बेल वगैरह भी खूब बिकते हैं. सावन शिवरात्रि (Sawan Shivratri) का हिन्‍दू धर्म में खास महत्‍व है. सावन शिवरात्रि हर साल सावन माश्र की कृष्‍ण पक्ष चतुर्दशी को आती है. हर महीने कृष्‍ण पक्ष की चतुर्दशी को शिवरात्रि आती है, लेकिन सावन महीने में आने वाली शिवरात्रि को विशेष फलदायी माना जाता है. सावन की शिवरात्रि (Sawan Shivratri 2019) के साथ ही त्योहारों की शुरुआत हो जाएगी. सावन का महीना जिसे श्रावण मास कहा जाता है हिंदू धर्म में खास महत्व रखता है. हर महीने की कृष्णपक्ष चतुर्दशी को मास शिवरात्रि होती है, सावन और फाल्गुन कृष्ण चतुर्दशी को पड़ने वाली शिवरात्रि खास होती हैं. फाल्गुन में पड़ने वाली शिवरात्रि को महाशिवरात्रि (Mahashivratri 2019) के रूप में पूजा जाता है. माना जाता है कि इसी दिन शिव पार्वती (Shiv Parvati) का विवाह हुआ था. 2019 की महाशिवरात्रि 4 मार्च को थी. जोकि सोमवार को थी. शिवरात्रि के दिन लोग शिव-पार्वती की पूजा करते हैं. इस दौरान मान्यताओं का ध्यान रखना जरूरी है. तो चलिए जानते हैं कि इस दिन भगवान शिव पर क्‍या चढ़ाना चाहिए और क्‍या नहीं. 

तीज पर बनने वाले पकवानों की विधि, जानें कब है कजरी तीज, तिथि, व्रत कथा, पूजन विधि और मुहूर्त





शिवरात्रि 2019: शिव को ये 4 चीजें न चढ़ाएं

शिवरात्रि 2019 पर शिव को न चढ़ाएं हल्दी

माना जाता है कि भगवान शिव को हल्दी अर्पित नहीं की जाती. माना जाता है कि ऐसा इसलिए है कि हल्दी एक स्त्री सौंदर्य प्रसाधन में प्रयोग की जाते वाली वस्‍तु है और शास्त्रों के अनुसार शिवलिंग पुरुषत्व का प्रतीक है. तो ऐसे में ध्यान रखें कि अगर आप मान्यताओं पर भरोसा करते हैं तो 30 जुलाई को शिवरात्रि पर शिव को हल्दी न चढ़ाएं.

शिवरात्रि 2019 पर शिव को न चढ़ाएं लाल रंग के फूल

कहते हैं कि शिव को गेंदा का फूल पसंद है. तो यह तो बात हुई कि शिव को क्या चढ़ाना है. लेकिन मान्यता है कि शिव को लाल रंग के फूल नहीं चढ़ाने चाहिए. मान्यता है कि सफेद रंग के फूल चढ़ाने से भगवान शिव को जल्दी खुश होते हैं.

नाश्ते में क्या बनाएं? लो-कैलोरी, हाई-फाइबर ओट्स चीला है सबसे अच्छा स्वस्थ नाश्ता

n6b0p2k8

Happy Shivratri 2019: शिवरात्रि के साथ ही त्योहारों की शुरुआत हो जाएगी.

शिवरात्रि 2019 पर शिव को न चढ़ाएं सिंदूर या कुमकुम

आपने देखा होगा कि हनुमान मंदिर में भगवान हनुमान को सिंदूर और कुमकुम चढ़ाया जाता है. लेकिन अगर आप शिवपूजन के लिए जा रहे हैं तो ध्यान रखें कि शिव को सिंदूर या कुमकुम नहीं चढ़ाना चाहिए. भगवान शिव विध्वंसक के रूप में जाने गए हैं इसलिए मान्यता है कि शिवलिंग पर सिंदूर या कुमकुम की बजाए चंदन चढ़ाना चाहिए. 

सावन शिवरात्रि 30 जुलाई को, शिव को चढ़ाएं ये भोग, जानें पूजा विधि, शुभ मुहूर्त और महत्व

शिवरात्रि 2019 पर शिव को न चढ़ाएं तुलसी

तुलसी एक ऐसा पौधा है जिसे हिंदू धर्म में पूजा के योग्य माना जाता है. लेकिन आप यह जानकर हैरान होंगे कि तुलसी को भी भगवान शिव पर चढ़ाना वर्जित है.

Happy Shivratri 2019

और खबरों के लिए क्लिक करें.

Nag Panchami 2019: कब है नाग पंचमी, मान्यताएं और भोजन से जुड़े रिवाज, पढ़ें सेंवई बनाने की विधि

Comments

NDTV Food Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं ताजा फूड खबरें , चटपटे जायके, हेल्थ टिप्स, ब्यूटी के कारगर नुस्खे और टिप्स और फूड एंड ड्रिंक से जुड़ी खबरें भी.

Advertisement
ताजा लेख
Advertisement