Tulsi Leaves For Diabetes: ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने में कैसे काम आती है तुलसी...

तुलसी कई तरह की लाइफस्टाइल (lifestyle disease) से होने वाली बीमार‍ियों को (holy basil to stabilise blood sugar levels) से भी नि‍जात दि‍लाने में मददगार है. 

अनिता शर्मा  |  Updated: April 25, 2019 16:14 IST

Reddit
How Holy Basil Manage Blood Sugar Levels | Tulsi Leaves For Diabetes | madhumeh ka ilaj in hindi | Madhumeh ke gharelu nuskhe

तुलसी डायबिटीज (Tulsi Leaves For Diabetes) के मरीजों के लिए भी अच्छी हैं

Tulsi Leaves For Diabetes: हिंदू धर्म में तुलसी (Holy Basil or Tulsi) का काफी महत्व है. यह एक पवि‍त्र पौधा है. पूजा से लेकर शादी तक सभी शुभ कार्यों में तुलसी (Significantly of Holy Basil or Tulsi) का इस्तेमाल होता है. तुलसी एक ऐसा पौधा है, जिसके कई गुणकारी असर (Tulsi as Ayurvedic medicines) देखने को मिलते हैं. सर्दी, जुखाम, खासी जैसी बीमारियों के अलावा तुलसी (Tulsi Leaves) सांस संबंधी बीमारियों को भी दूर करने में काफी इस्तेमाल आता है. इतना ही नहीं तुसली के कई लाइलाज बीमारियों को भी बढ़ने से रोका जा सकता है. तुलसी की एक छोटी से पत्ती (Tulsi Leaves) के सहारे ही शरीर और सेहत दोनों दोनों के दुरुस्त किया जा सकता है. तुलसी से डायबि‍टीज (Tulsi and Diabetes) को भी नि‍यंत्र‍ित क‍िया जा सकता है. इतना ही नहीं तुलसी कई तरह की लाइफस्टाइल से होने वाली बीमार‍ियों को (Holy Basil to Stabilise Blood Sugar Levels) से भी नि‍जात दि‍लाने में मददगार है. 

तुलसी डायबिटीज (Tulsi Leaves For Diabetes) के मरीजों के लिए भी अच्छी हैं क्योंकि इसे ब्लड में शुगर का लेवल (blood sugar levels) सही रहता है. तुलसी की पत्तियां कोलेस्ट्रॉल लेवल को न‍ियंत्रण में रखने में मददगार होती हैं. ये शरीर के ख़राब कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद कर अच्छे कोलेस्ट्रॉल के लेवल को बढ़ाने का काम करती हैं. हाल ही में हुए एक शोध में यह बात सामने आई कि तुलसी टाइप-2 डायबि‍टीज (Type-2) से भी नि‍जात दिला सकती है. 



कैसे डायब‍िटीज को कम करती है तुलसी | How To Use Holy Basil To Manage Blood Sugar Levels

1. तुलसी ब्लड शुगर लेवल करे ठीक (Tulsi and Blood Sugar Level)



- तुलसी के पत्तियों के सेवन से ब्लड शुगर लेवल का स्तर ठीक रहता है, जिसके कारण मधुमेह का खतरा कम हो जाता है. 

- तुलसी की पत्तियों में तनाव को कम करने वाला हार्मोन कोर्टिसोल पाया जाता है. 

- तुलसी की मदद से तनाव से छुटकारा पाया जा सकता है. अगर सिर दर्द से काफी परेशान रहते हैं तो तुलसी का रोजाना सेवन करना चाहिए. इसके लिए तुलसी की पत्तियों को पानी में उबाल लें और फिर छान कर पानी को पीने से सिर दर्द से राहत मिलेगी.

tulsi

 तुलसी द‍िलाती है सिर के दर्द से निजात (Migraine Stress Headache Tulsi Basil) 

रोज सुबह तुलसी खाने से कई बीमारियों से निजात पाई जा सकती है. आइए जानते हैं तुलसी की पत्तियां खाने से किन बीमारियों को दूर किया जा सकता है...



2. तुलसी द‍िलाती है सिर के दर्द से निजात (Migraine Stress Headache Tulsi Basil) 

तुलसी और अदरक के इस्तेमाल से भी सिर के दर्द से निजात पाई जा सकती है. इसके लिए तुलसी की पत्तियों का और अदरक का रस एक साथ मिलाएं. इसके बाद इसे माथे पर लगाएं. वहीं इस रस को सिर दर्द से परेशान व्यक्ति को पिलाया भी जा सकता है. इससे सिर दर्द में काफी राहत मिलेगी.

3. लीवर की ताकत बढ़ाती है तुलसी (Benefits Of Tulsi) 

लीवर की कार्यशक्ति बढ़ाने और ब्लड कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए तुलसी का इस्तेमाल करना काफी लाभदायक रहता है. तुलसी की पत्तियों का सेवन कर सांस की बदबू और गले की खराश को भी दूर किया जा सकता है. 



4. बुखार करे दूर (Benefits Of Tulsi in Hindi)

बुखार की समस्या से भी तुलसी के सेवन से छुटकारा पाया जा सकता है. तुलसी के इस्तेमाल से पेट की बीमारियों से निजात पाई जा सकती है. 



5. ये भी हैं तुलसी के फायदे (Benefits Of Tulsi in Hindi)

तुलसी के यही फायदे नहीं हैं. इनके अलावा भी बहुत से सेहत से जुड़ी समस्याओं में तुलसी मददगार होती है. तुलसी की पत्तियों के सेवन से पेट के कीड़े, उल्टी, गैस, दस्त जैसी समस्याओं से छुटकारा पाया जा सकता है. 

और खबरों के लि‍ए क्लि‍क करें.

Comments

NDTV Food Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं ताजा फूड खबरें , चटपटे जायके, हेल्थ टिप्स, ब्यूटी के कारगर नुस्खे और टिप्स और फूड एंड ड्रिंक से जुड़ी खबरें भी.

संबंधित रेसिपी

Advertisement
ताजा लेख
Advertisement