60 लाख से ज्यादा कमाता है यह कचौडी वाला, नहीं खत्म होती ग्राहकों की लाइन!

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ की है. यहां 'कचौड़ी' बेचने वाली एक साधारण सी दुकान ने सुर्खियां बंटोर ली हैं. 'मुकेश कचौरी' के नाम से मशहूर यह दुकान सीमा सिनेमा हॉल के पास है और स्थानीय लोगों के बीच पसंदीदा है.

आईएएनएस  |  Updated: June 25, 2019 15:15 IST

Reddit
UP Kachori Seller Who Earns Over 60 Lakh Annually Gets Tax Notice

यह दुकान सीमा सिनेमा हॉल के पास है और स्थानीय लोगों के बीच पसंदीदा है.

उत्तर प्रदेश में फूड लवर्स की कमी नहीं. इस बात का सबूत है हाल ही में आई एक खबर. यहां एक कचौड़ी वाले की जांच करने गई वाणिज्य कर विभाग की टीम उसकी कमाई की जांच कर हैरान रह गई. इस टीम ने दुकान पर खड़े होकर बिक्री और एक दिन में इस्तेमाल हुए सामान से इस कचौड़ी वाले के टर्न ओवर का अंदाजा लगाया, नतीजा जो आया वह आपको भी हैरान कर देगा. टीम के अनुसार जो टर्न ओवर निकला वह 60 लाख है जो बढ़ कर 1 करोड़ भी हो सकता है. फिलहाल दुकानदार को नोटिस जारी कर दिया गया है. यह खबर उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ की है. यहां 'कचौड़ी' बेचने वाली एक साधारण सी दुकान ने सुर्खियां बंटोर ली हैं. 'मुकेश कचौरी' के नाम से मशहूर यह दुकान सीमा सिनेमा हॉल के पास है और स्थानीय लोगों के बीच पसंदीदा है. दुकान का मालिक मुकेश सुबह 'कचौरी' और 'समोसा' बेचना शुरू करता है और दिन भर बेचता है. यहां की कचौड़ी लोगों को इतनी पसंद है कि कहा जाता है कि यहां ग्राहकों की लाइन कभी खत्म नहीं होती. 

मुकेश और उनकी दुकान के साथ हाल तक सब ठीक था, जब किसी ने वाणिज्यिक कर विभाग में शिकायत दर्ज कराई. कर निरीक्षकों की एक टीम मुकेश कचौरी के पास एक अन्य दुकान पर बैठ गई और बिक्री पर नज़र रखने लगी. उन्होंने पाया कि मुकेश 60 लाख से 1 करोड़ रुपये के बीच कमा रहा होगा. 

मुकेश को अब नोटिस जारी किया गया है, क्योंकि उसने अपनी दुकान को जीएसटी के तहत पंजीकृत नहीं किया है और कोई कर नहीं चुकाता है. 

दाल कचौड़ी रेसिपी (Dal kachori Recipe)

"मुझे इस सब के बारे में जानकारी नहीं है. मैं पिछले 12 सालों से अपनी दुकान चला रहा हूं और किसी ने भी मुझे कभी नहीं बताया कि इन चीजों की जरूरत है. हम साधारण लोग हैं, जो जीने के लिए 'कचौड़ी' और 'समोसा' बेचते हैं," मुकेश ने कहा.

मामले की जांच कर रहे एसआईबी के एक सदस्य ने कहा: "मुकेश ने आसानी से अपनी आय को स्वीकार कर लिया और हमें कच्चे माल, तेल, एलपीजी सिलेंडर आदि पर अपने खर्च का सारा विवरण दिया."

सालाना 40 लाख रुपये का टर्न ओवर करने वालों को जीएसटी में पंजीयन अनिवार्य है. एसआईबी अधिकारी ने कहा कि मुकेश को जीएसटी पंजीकरण करवाना होगा और एक साल के लिए कर भी देना होगा. एसआईबी के डिप्टी कमिश्नर आर.पी.डी. कनौतिया ने कहा कि मुकेश को पहले ही नोटिस जारी किया जा चुका है.

और खबरों के लिए क्लिक करें.
 



















Comments

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

NDTV Food Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं ताजा फूड खबरें , चटपटे जायके, हेल्थ टिप्स, ब्यूटी के कारगर नुस्खे और टिप्स और फूड एंड ड्रिंक से जुड़ी खबरें भी.

Advertisement
ताजा लेख
Advertisement