यूएस खाद्य सुरक्षा ने भारत में निर्मित स्नैक्स की इन ब्रांड पर लगाई रोक

भारतीय फास्ट फूड निर्माण पर चल रहे विवाद के बाद हाल ही में ‘द वॉल स्ट्रीट दैनिक’ में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक, 'अमेरिका के खाद्य व दवा प्रशासन (एफ़डीए) ने 217 इंपोर्टेड बेक्ड उत्पाद में से हल्दीराम और ब्रिटानिया समेत आधे से ज़्यादा भारत के खाद्ध पदार्थ को नकार दिया है।'

NDTV Food Hindi  |  Updated: June 16, 2015 00:22 IST

Reddit
US Food Security Rejects Indian Snacks: Deem Most of Them Unfit for Consumption

भारतीय फास्ट फूड निर्माण पर चल रहे विवाद के बाद हाल ही में ‘द वॉल स्ट्रीट दैनिक' में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक, 'अमेरिका के खाद्य व दवा प्रशासन (एफ़डीए) ने 217 इंपोर्टेड बेक्ड उत्पाद में से हल्दीराम और ब्रिटानिया समेत आधे से ज़्यादा भारत के खाद्ध पदार्थ को नकार दिया है।'

अगर यूएसएफ़डीए की वेबसाइट पर जाकर देखा जाए, तो पता चलेगा कि कितनी बार इंडिया के स्नैक्स और बाकी के खाने को अमेरिकी खाद्य सुरक्षा अधिकारियों ने अस्वीकार किया है।

वहीं अब यूएसएफ़डीए ने एक बेहद पारदर्शी सूची जारी की है, जिसमें उन्होंने साल 2001 में वापस किए उत्पादों का ज़िक्र किया है। इसके अलावा पिछले साल की रिपोर्ट मिलने पर पता चला है कि 19 सितंबर को हल्दीराम के स्नैक्स इसलिए रोक दिए गए थे, क्योंकि उनमें कीटनाशक रसायन पाए गए थे।

 

ये भी पढ़ें- 


दिसंबर 2014 में अमेरिका के खाद्य निरीक्षकों की ओर से स्नैक श्रेणी के अंतर्गत 21 उत्पादों की शिपमेंट पर रोक लगा दी गई थी, जिनमें से 17 उत्पाद हल्दीराम के थे।

सिर्फ स्नैक्स ही नहीं, बल्कि भारतीय उत्पाद के अंतर्गत आने वाले सभी तरह के खाद्य पदार्थ, ड्रग्स और कॉस्मेटिक की आयात को यूएसएफ़डीए ने खारिज कर दिया था। यह सभी चीजें सम्मिश्रण, लेबल, पैक करने की सामग्री, बैक्टीरिया का संक्रमण समेत कई जांचों में निगेटिव निकले , जिसकी वजह से उन्हें शुरुआती दौर में ही रोक दिया गया था।

यूएसएफ़डीए ने 6 जनवरी को ब्रिटानिया बिस्कुट के बैच को भी रोक दिया था और जरूरी पोषक तत्वों की सही जानकारी नहीं होने के कारण इन्हें अस्वीकार किया गया। पदार्थ का खराब होना, खाने योग्य न होना, बदबूदार होना, साथ ही उत्पाद को गंदी तरह से बनाने की वजह से शुरुआती दौर में तो बीकाजी, बीकानेर वाला और देसाई ब्रदर्स पर भी आयात करने से रोक लगा दी गई थी।

ताजा लेख- 
 

Weight loss: वजन घटाने में मदद करेगा इलायची का पानी, इलायची के फायदे



Raita For Weight Loss: ये 3 रायते कम करेंगे वजन और डाइटिंग भी बनेगी जायकेदार...



How to Remove Hair from Face: अनचाहे बाल हटाने के 5 घरेलू उपाय



अगर अच्छी नींद चाहिए, तो सोने से पहले खाएं ये 5 आहार...



Remedies for hair fall: झड़ते बालों को तुरंत रोक देंगे ये घरेलू नुस्खे...



Halwa Recipe: झटपट बनाएं हलवा, पढ़ें सूजी का हलवा बनाने की रेसिपी



दिल्ली वासियों के अस्थि पंजर हो रहे ढीले



Benefits of Cloves: लौंग के फायदे, ये 5 परेशानियां होंगी दूर





ब्रांड का जवाब
जब यह सब बातें सामने आईं, तो ब्रांड ने इस पर सफाई दी। ‘द वॉल स्ट्रीट दैनिक' की खबर के अनुसार, हल्दीराम के सीनियर वाइस-प्रेजीडेंट एमके त्यागी, ने दावा किया कि कंपनी के उत्पाद 100 फीसदी सुरक्षित हैं और देश के कानून के मुताबिक है। साथ ही उन्होंने कहा कि अंतर कुछ नहीं है, भारत और अमेरिका के खाद्य पदार्थों के मानकों में बदलाव का नतीजा है।'

वहीं, ब्रिटानिया ने मेल में कहा कि 'वह भारत में स्थित यूएसएफ़डीए के पंजीकृत कारखानों से ही अमेरिका को उत्पाद निर्यात करता है और लेबलिंग उत्पाद मानकों के अनुरूप हैं।'



Comments

और खबरों और रेसिपी के लिए क्लिक करें.



NDTV Food Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं ताजा फूड खबरें , चटपटे जायके, हेल्थ टिप्स, ब्यूटी के कारगर नुस्खे और टिप्स और फूड एंड ड्रिंक से जुड़ी खबरें भी.

Advertisement
ताजा लेख
Advertisement