सांस संबंधी परेशानियों से बचने के लिए एयर प्यूरीफायर है बेस्ट

   |  Updated: October 01, 2016 12:07 IST

Reddit
use air purifier for respiratory health
दुनिया की 92 प्रतिशत जनसंख्या के वायु प्रदूषण के असुरक्षित स्तर में सांस लेने को मजबूर है। ऐसे में स्वास्थ्य जानकारों का कहना है कि खराब हवा से होने वाली श्वसन संबंधी बीमारियों से निपटने के लिए लोगों को एयर प्यूरीफायर का इस्तेमाल करना चाहिए। स्वास्थ्य विशेषज्ञों का कहना है कि दूषित हवा में सांस लेने से सिर्फ श्वास संबंधी बीमारियां ही नहीं, बल्कि मोटापा और गर्भपात तथा भ्रूण के उचित विकास में बाधा जैसी जटिलताएं भी पैदा हो सकती हैं।

सर गंगा राम अस्पताल के आंतरिक चिकित्सा विभाग के वरिष्ठ सलाहकार, एस.पी. बायोत्रा ने कहा, "एयर प्यूरीफायर वायु प्रदूषण से सांस संबंधी बीमारियों से बचने का एक अस्थायी हल हो सकते हैं। इससे वायु प्रदूषण से जुड़ी समस्याओं में कमी आएगी।"विश्व स्वास्थ्य संगठन की हाल की रिपोर्ट में पाया गया है कि 92 प्रतिशत विश्व की जनसंख्या खराब वायु गुणवत्ता वाले जगहों में रहती है, जो विश्व स्वास्थ्य संगठन के तय मानकों से ज्यादा है।

दिल्ली के राम मनोहर लोहिया अस्पताल के मेडिसीन विभाग से जुड़े रणधीर धवन ने कहा, "एयर प्यूरीफायर प्रदूषित हवा को साफ करने में बहुत हद तक मददगार होते हैं। हालांकि यह स्थायी हल नहीं है, लेकिन इससे एक निश्चित हद तक सांस संबंधी बीमारियों से बचा जा सकता है।"



Comments(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

NDTV Food Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं ताजा फूड खबरें , चटपटे जायके, हेल्थ टिप्स, ब्यूटी के कारगर नुस्खे और टिप्स और फूड एंड ड्रिंक से जुड़ी खबरें भी.

Advertisement
ताजा लेख
Advertisement