Janmashtami 2019: क्यों लगाते हैं बालगोपाल को माखन मिश्री भोग, श्रीकृष्ण का पंसदीदा भोग की विधि, दोस्तों को ऐसे करें Wish

Happy Krishna Janmashtami 2019: जन्माष्टमी कब है (When Is Janmashtami) अगर आपके मन में भी यही सवाल है तो हम आपको बता दें कि साल 2019 में जन्माष्टमी 24 अगस्त को है.

Edited by: अनिता शर्मा  |  Updated: August 22, 2019 12:51 IST

Reddit
Janmashtami 2019: How To Make Makhan Mishri Bhog at Home on Krishna birthday | Wishes, Janmashtami Messages/SMS in Hindi

साल 2019 में जन्माष्टमी 24 अगस्त को है.

Highlights
  • श्रीकृष्ण को भगवान विष्णु का आठवां अवतार माना जाता है.
  • श्रीकृष्ण बचपन में बेहद ही नटखट थे.
  • श्रीकृष्ण को बचपन से ही मक्खन बेहद पंसद था.

Happy Krishna Janmashtami 2019: जन्माष्टमी कब है (When Is Janmashtami) अगर आपके मन में भी यही सवाल है तो हम आपको बता दें कि साल 2019 में जन्माष्टमी 24 अगस्त को है. बताते चलें कि इस बार जन्‍माष्‍टमी दो दिन पड़ रही है. भाद्रपद कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को देखें तो ये 23 अगस्त को सुबह 8 बजकर 8 मिनट से 24 अगस्त को सुबह 8 बजकर 31 मिनट तक है. लेकिन कई हिंदू कैलेंडर साल 2019 में जनमाष्टमी की तिथि 24 अगस्त बता रहे हैं. चलिए जानते हैं कि असल में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी (Krishna Janmashtami 2019) असल में कब है. असल में 2019 में अष्टमी तिथि और रोहिणी नक्षत्र दोनों एक साथ नहीं बन रहे. शुक्रवार यानी 23 अगस्त की रात 12 से 1 बजे तक के अष्टमी तिथि है. लेकिन रोहिणी नक्षत्र 24 अगस्त को 3 बजकर 45 मिनट पर शुरू होगा यानी सूर्यादय से पहले. यह अगले दिन 25 अगस्त को सुबह 4 बजकर 25 मिनट पर पूर्ण होगा. यही वजह है कि इस साल कुछ लोग 23 अगस्त को ही जन्माष्टमी मना रहे हैं. कृष्ण जन्माष्टमी (Janmashtami 2019) को कई नामों से जाना जाता है. इन्हीं में से कुछ हैं कन्हैया अष्टमी, कन्हैया आठे, कृष्णाष्टमी, गोकुलाष्टमी, श्रीकृष्ण जयंती. इस दिन कृष्णभक्त आजकल एक दूसरे को फेसबुक, व्हट्सएप पर संदेश, कोट्स, स्टेटस भेजते हैं. जन्माष्टमी पर मुबारकबाद या शुभकामनाएं (Janmashtami Wishes) देने के लिए  आजकल लोग फोन पर मैसेज (Janmashtami Messages/SMS in Hindi) साझा करते हैं. तो हम आपको बताते हैं ऐसे संदेशों के बारे में जो जन्माष्टमी पर खूब साझा किए जा रहे है- 

जन्माष्टमी 2019 पर दोस्तों से साझा करें यह मैसेज (Janmashtami Wishes, Janmashtami Messages/SMS in Hindi)

कण-कण में वो करे निवास,
गोपियों संग वो रचाये रास,
देवकी-यशोदा जिनकी मैया,
ऐसे हमारे किसन कन्हैया.

Happy Janmashtami 2019



---



जो माखन चोर कहलाया,
बंसी बजाकर जिसने सबको नचाया,
चलो मनाएं उनका जन्मदिन,
जिसने दुनिया को प्रेम का पाठ पढ़ाया.



Happy Janmashtami 2019



---



नन्द के घर आनन्द भयो,
जय कन्हैया लाल की, 
जो नन्द के घर गोपाल गयो,
जय कन्हैया लाल की, 
जय मुरलीधर गोपाल की,
जय हो कन्हैया लाल की.



Happy Janmashtami 2019



---



भगवान कृष्ण के जन्म दिवस को हिंदू धर्म में जन्माष्टमी के पर्व के तौर पर मनाया जाता है. हिन्दू कैलेंकर के अनुसार श्रीकृष्ण का जन्म श्रावण मास के आठवें दिन यानी अष्टमी पर मध्यरात्रि में हुआ था. भारतीय धर्म शास्त्रों में कहा गया है जब-जब धरती पर पाप बढ़ता है तब भगवान किसी न किसी रूप में अवतार लेते हैं. इसी तरह द्वापर युग में भगवान विष्णु ने श्रीकृष्ण के रूप में जन्म लिया. श्रीकृष्ण को भगवान विष्णु का आठवां अवतार माना गया है जिन्होंने देवकी और वासुदेव के पुत्र के रूप में जन्म लिया और मथुरावासियों को निर्दयी राजा कंस के शासन से मुक्ति दिलाई. भले ही श्रीकृष्ण के माता-पिता देवकी और वासुदेव थे लेकिन बचपन से ही उनका पालन-पोषण यशोदा और नंद ने किया था. ऐसी भविष्यवाणी की गई थी कि देवकी और वासुदेव का आठवां पुत्र कंस की मृत्यु का कारण बनेगा. 



janmashtmi
 



वृंदावन में श्रीकृष्ण एक नटखट बालक थे, जिसे गांव में उनकी शरारतों के लिए जाना जाता था. श्रीकृष्ण को बचपन से ही मक्खन बेहद पंसद था. कहा जाता है कि मैया यशोदा हर रोज खुद अपने हाथों से माखन मिश्री बनाकर श्रीकृष्ण खिलाती थीं लेकिन श्रीकृष्ण को माखन इतना पंसद था कि वह पूरे गांव में मथा हुआ माखन चुराकर खाते थे. श्रीकृष्ण को माखन चुराने से रोकने के लिए एक बार उनकी मां ने उन्हें एक खंभे से बांध दिया था.

क्यों कहा जाता है कृष्ण को माखनचोर

श्रीकृष्ण की इस हरकत के चलते उनका नाम माखन चोर पड़ा और जन्माष्टमी के पावन अवसर पर उनके भक्त मुख्य भोग के तौर पर उन्हें माखन मिश्री का भोग लगाते हैं. इसके अलावा भगवान के लिए छप्पन भोग भी बनाया जाता है जिसमें 56 तरह की खाने की कई चीजें शामिल होती हैं. भगवान को भोग लगने के बाद इन सभी चीज़ों को भक्तों में बांटा जाता है और इस प्रसाद को ग्रहण करने बाद वे अपना व्रत तोड़ते हैं. 



Comments

माना जाता है छप्पन भोग में श्रीकृष्ण के पंसदीदा व्यंजन होते हैं जिसमें अनाज, फल, ड्राई फ्रूट्स, मिठाई, पेय पदार्थ, नमकीन और आचार की श्रेणी में आने वाले आठ प्रकार की चीजें होती हैं. छप्पन भोग में सामान्य रूप से माखन मिश्री खीर और रसगुल्ला, जलेबी, रबड़ी, मठरी, मालपुआ, मोहनभोग, चटनी, मुरब्बा, साग, दही, चावल, दाल, कढ़ी, घेवर, चीला, पापड़, मूंग दाल का हलवा, पकोड़ा, खिचड़ी, बैंगन की सब्जी, लौकी की सब्जी, पूरी, बादाम का दूध, टिक्की, काजू, बादाम, पिस्ता जैसी चीजें शामिल होती हैं. अगर भक्त भगवान को छप्पन भोग प्रसाद में नहीं चढ़ा पाते हैं तो माखन मिश्री एक मुख्य भोग है जो आमतौर पर जन्माष्टमी के मौके पर श्रीकृष्ण को चढ़ाया जाता है.

makhan mishri

कैसे बनाएं माखन मिश्री | How To Make Makhan Mishri Prasad At Home

माखन मिश्री बनाने में बेहद ही आसान है. इसे बनाने के लिए आपको सिर्फ बिना नमक वाली मलाई और मिश्री के दानों की जरूरत होती है. आप फुल क्रीम दूध से भी मलाई इकट्ठा कर सकते हैं. कुछ दिनों तक आप दूध की मलाई को इकट्ठा करते रहें. जब आपके पास काफी सारी मलाई हो जाए तो इसे ठंडे पानी की मदद से मथे मलाई से मक्खन अलग होने लगेगा. मलाई को मथना जारी रखें जब तक मक्खन पूरी तरह अलग न हो जाए. मक्खन को इकट्ठा करके एक घंटे तक फ्रीज में ठंडा होने के लिए रख दें. कुछ मिश्री के दाने और ड्राई फ्रूट्स डालकर अब आप इसे भगवान को भोग लगा सकते हैं.

Happy Krishna Janmashtami 2019!

और खबरों के लिए क्लिक करें.



NDTV Food Hindi से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर ज्वॉइन और Twitter पर फॉलो करें... साथ ही पाएं ताजा फूड खबरें , चटपटे जायके, हेल्थ टिप्स, ब्यूटी के कारगर नुस्खे और टिप्स और फूड एंड ड्रिंक से जुड़ी खबरें भी.

Advertisement
ताजा लेख
Advertisement